मुंबई (मिड-डे)। 2017 में कंगना ने फिल्म प्रोडक्शन में हाथ आजमाने की इच्छा जाहिर की थी और मुंबई में अपने स्टूडियो 'मणिकर्णिका फिल्म्स' के लिए प्रॉपर्टी भी खरीदी पर बाद में उन्होंने अपने प्लान पर ब्रेक लगा दिया। हालांकि, मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी में डायरेक्शन करके सक्सेस पाने के बाद उन्होंने फिर अपने सपने पर तेज रफ्तार से काम शुरू कर दिया है। अपने प्लान को लेकर उन्होंने बताया, 'हमारा ऑफिस जनवरी तक तैयार होगा और हम इसके साथ-साथ अपने प्रोजेक्ट्स पूरे करते रहेंगे। हमारे पास कई अच्छी स्क्रिप्ट हैं और मेकर्स चाहते हैं मैं उनके साथ दिखूं लेकिन नए टैलेंट को प्लेटफॉर्म मिलना चाहिए।'

छोटे प्रोजेक्ट्स से होगी शुरुआत

इस एक्ट्रेस का कहना है कि वह शुरुआत छोटे बजट की मूवीज से करेंगी। इसके पीछे की वजह बताते हुए उन्होंने कहा, 'अगर जजमेंटल है क्या मेरे बिना 10 करोड़ रुपए में बनाई जाती तो 40 करोड़ रुपए की कमाई करके यह ब्लॉकबस्टर बन गई होती पर यह 30 करोड़ में बनी थी इसलिए यह सिर्फ अपने बजट की बराबरी भर कर पाई। मैं कुछ छोटी मूवीज को बैक करूंगी और देखूंगी क्या होता है। बाद में हम बड़े लेवल पर काम करेंगे। हम डिजिटल एंटरटेनमेंट का भी रुख करेंगे।'

कंगना रनौत की मणिकर्णिका से अलग होगी देविका भिसे की फिल्म की कहानी

डायरेक्शन भी जारी रहेगा

'नेपोटिज्म' को लेकर अक्सर अपनी आवाज उठाने वाली कंगना कहती हैं, 'मैं खुद की प्रोड्यूस की हुई मूवीज में एक्टिंग नहीं करूंगी। यहां बहुत सारा टैलेंज मौजूद है और मैं स्क्रिप्ट को ध्यान में रखकर एक्टर्स को हायर करूंगी। मैं नए टैलेंट को साथ लूंगी और उन्हें गाइड करूंगी।' क्या वह डायरेक्शन भी करेंगी? इसको लेकर उनका कहना है, 'मेरा अगला डायरेक्टोरियल प्रोजेक्ट हम जल्द अनाउंस करेंगे। मैं इस पर धाकड़ मूवी खत्म होने के बाद काम शुरू कर सकती हूं।'

hitlist@mid-day.com

रंगोली ने पुरानी यादें की ताजा, बताया जब कंगना को पीट कर दिया गया था अधमरा

Posted By: Vandana Sharma

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk