फ्लैग : नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना को करना था बाकरगंज प्लांट का निरीक्षण, पर टाल दिया कार्यक्रम

- प्लांट के प्रोजेक्ट मैनेजर जेपी सिंह ने इससे जताई हताशा

बरेली. कान्हा उपवन का फ्राइडे को उद्घाटन करने आए नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना बाकरगंज कूड़ा निस्तारण प्लांट पर झांकने तक नहीं गए. उनके निरीक्षण के लिए प्लांट के अफसर वेडनेसडे से तैयारियां कर रहे थे. तैयारियों पर 12 हजार रुपए से ज्यादा खर्च किए गए थे. इससे निराश प्लांट के प्रोजेक्ट मैनेजर जेपी सिंह का कहना था, मंत्रीजी प्लांट पर आए नहीं, 12 हजार का नुकसान कर गए.

और दूसरे खर्चे भी हुए

मंत्री सुरेश खन्ना को तय कार्यक्रम के मुताबिक 12 बजे बाकरगंज प्लांट पहुंचना था. वे सबसे पहले 12:46 मिनट पर कान्हा उपवन का उद्घाटन करने पहुंचे. यहां से निकलने के दौरान रास्ते में बाकरगंज का रास्ता भी पड़ता था, लेकिन वे उस तरफ नहीं गए और इंदिरा मार्केट पहुंच गए. इधर, उनके स्वागत में प्लांट में टेंट-कनात और कुर्सियां खली पड़े रहे. इससे निराश प्लांट के प्रोजेक्ट मैनेजर जेपी सिंह ने कहा, 'मंत्री जी तो आए नहीं लेकिन हमारा हजारों को नुकसान करा गए. अभी टेंट वाले को 12 हजार रुपए का पेमेंट करना है. इसके अलावा मंत्री जी के स्वागत के लिए कई दूसरे खर्चे भी हुए. लेकिन मंत्री जी नही आए.'

मेयर ने कहा, इसलिए नहीं आए

इस संबंध में मेयर उमेश गौतम का कहना था कि मंत्रीजी को एक कार्यक्रम में शामिल होने गजरौला जाना था, इसलिए उन्होंने प्लांट में जाने का कार्यक्रम टाल दिया.

तीन दिन से चल रहा था ट्रायल

मंत्रीजी से उद्घाटन कराने के लिए प्लांट में तीन दिन से ट्रायल चल रहा था. थर्सडे को प्लांट में पॉलीथिन का ट्रीटमेंट कर उससे तेल भी निकाला गया था.

सड़क भी बनाई गई थी

मंत्रीजी के काफिले को बाकरगंज प्लांट तक पहुंचाने के लिए वहां टेम्परेरी सड़क भी बनवाई गई थी.

--------------------

बायो मेडिकल वेस्ट पर नहीं हुआ एक्शन

बाकरगंज प्लांट के ट्रायल के लिए नगर निगम द्वारा मेडिकल वेस्ट भेजने के मामले में अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है. इस बारे में नगर आयुक्त राजेश श्रीवास्तव ने कहा कि अभी वो मंत्रीजी के कार्यक्रम में व्यस्त हैं. इसके बाद वे इस मामले में कार्रवाई करेंगे.