-घर में डस्टबिन में कूड़ा फेंकते हैं तो बाहर सड़क पर क्यों, रोजाना रोड्स पर फेंका जाता है टनों कूड़ा

-दैनिक जागरण आई नेक्स्ट और रेडियो सिटी के 'बिन में फेंक' अभियान को कानपुराइट्स ने सराहा

kanpur@inext.co.in

KANPUR : जिस तरह से घर की सफाई की जिम्मेदारी उसमें रहने वाले परिवार की होती है. ठीक उसी तरह शहर को भी साफ-सुथरा रखने की रेस्पॉन्सबिलिटी सिटीजंस की है. अगर कानपुराइट्स चाह लें तो सिटी में गंदगी का नामो निशान मिट सकता है. गंदे शहर के दाग को मिटाने के लिए दैनिक जागरण आई नेक्स्ट और रेडियो सिटी ने 'बिन में फेंक' अभियान शुरू किया है. जिससे लोग अवेयर हों और कूड़े को डस्टबिन में डालें. क्योंकि रोजाना डस्टबिन में कूड़ा न फेंकने से सिटी की सड़कों पर 500 टन कूड़ा जमा होता है. इसे नगर निगम को साफ करने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है.

ये होते हैं साइड इफेक्ट

सिटी में सड़कों पर कूड़ा फेंकने की आदत से गंदगी तो होती ही है, इसके अलावा कई और साइड इफेक्ट होते हैं. पॉल्यूशन बढ़ने के साथ ही नालियों में ब्लॉकेज तक हो जाता है. इसकी वजह से लोगों को सीवर भराव जैसी समस्याओं को भी फेस करना पड़ता है. कूड़े में भारी मात्रा में पॉलिथीन भी होती है. इसे गाय और अन्य जानवर खाकर मरते हैं, वहीं मिट्टी की गुणवत्ता भी खत्म हो जाती है.

------------

रेडियो सिटी ने देखा हाल

बिन में फेंक अभियान में रेडियो सिटी पर भी सैकड़ों की संख्या में कानपुराइट्स ने फोन कर कूड़े की प्रॉब्लम शेयर की. जिसके बाद रेडियो सिटी के आरजे राघव विनायकपुर पहुंचे. वहां का आलम ये था कि हर दूसरे घर के बाहर भारी मात्रा में कूड़ा जमा है. स्थानीय निवासी मो. मलिक और निशी द्विवेदी की शिकायत के बाद पहुंची रेडियो सिटी की टीम ने हाल देखा तो वह भी दंग रह गए. कानपुर की बिजी रोड में शुमार छपेड़ा पुलिया से बगिया क्रॉसिंग की तरफ जाने वाली रोड के दोनों तरफ भारी मात्रा में कूड़ा जमा था.

-------------

फोटो करें शेयर

'बिन में फेंक' अभियान के तहत आपके आसपास डस्टबिन न होने की वजह से बिखरे कूड़े की फोटो शेयर करें. हम आपकी बात नगर निगम तक पहुंचाएंगे और डस्टबिन लगवाने का प्रयास करेंगे. व्हाट्स एप पर फोटो शेयर करते लोकेशन का स्पष्ट एड्रेस भी लिखें.

------------

सिटी को साफ करने में ये अभियान जरूर कारगर साबित होगा. बिन में फेंक अभियान के माध्यम से लोगों से अपील भी है कि कूड़ा डस्टबिन में ही डालें. सड़कों और अपने आसपास के एरिया को साफ रखें.

-संतोष कुमार शर्मा, नगर आयुक्त.