- एफकांस इंफ्रॉस्ट्रक्चर की टीम ने आईटी से मोतीझील तक प्रपोज्ड कॉरिडोर व मेट्रो स्टेशन की जगह देखी, अगले महीने से काम शुरू करने का टारगेट

kanpur@inext.co.in

KANPUR: शापूरजी पालोनजी ग्रुप की कम्पनी एफकांस इंफ्रास्ट्रक्चर आईआईटी से मोतीझील के बीच 9 मेट्रो स्टेशन व एलीवेटेड वायाडक्ट बनाएगी. थर्सडे को कम्पनी की टीम सिटी आई. उन्होंने कानपुर मेट्रो के प्रॉयरिटी सेक्शन आईआईटी से मोतीझील तक का इंस्पेक्शन किया. प्रपोज्ड मेट्रो स्टेशंस के स्थान भी देखे. साथ ही टीम ने जीटी रोड पर पॉलीटेक्निक, गीता नगर आदि स्थानों पर हो रही स्वॉयल टेस्टिंग को भी देखा.

मेट्रो स्टेशंस की जगह देखी

दरअसल कानपुर मेट्रो आईआईटी से फूलबाग होते हुए नौबस्ता और सीएसए से बर्रा-8 तक दौड़ेगी. पहले प्रॉयोरिटी सेक्शन में आईआईटी से मोतीझील तक चलेगी. इस प्रॉयोरिटी सेक्शन में स्पेशल स्पैन सहित एलीवेटेड वायाडक्ट और 9 मेट्रो स्टेशन बनाने के लिए के लिए 676 टेंडर किए गए थे. एलएनटी, नागार्जुन कंस्ट्रक्शन, एफकांस और केईसी ने टेंडर डाले थे.

सबसे कम रेट एफकांस का

टेक्निकल बिड में चारों ही कम्पनी ने क्वालिफाई किया. पर फाइनेंशियल बिड खोलने पर सबसे कम रेट एफकांस इंफ्रास्ट्रक्चर कम्पनी के आए हैं. अब फाइनेंशियल बिड का इवैल्यूशन भी कम्प्लीट हो चुका है. लखनऊ मेट्रो रेल कार्पोरेशन के ऑफिसर्स के मुताबिक एफकांस इंफ्रास्ट्रक्चर शापूरजी पालोनजी ग्रु्रप की कम्पनी है. दिल्ली मेट्रो सहित कई बड़े प्रोजेक्ट्स में भी काम कर चुकी है. एक-दो दिन में टेंडर अवॉर्ड किए जाने का लेटर भी जारी कर दिया जाएगा. जिससे अक्टूबर में काम शुरू कराया जा सके.

प्रपोज्ड मेट्रो रूट का जायजा

यही वजह है कि एफकांस कम्पनी की पांच सदस्यीय टीम थर्सडे को दो गाडि़यों से सिटी आई. उन्होंने एलएमआरसी के असिसटेंट इंजीनियर, शिवओम जौहरी, मनमोहन तिवारी व आदर्श कुमार के साथ आईआईटी मेट्रो स्टेशन से इंस्पेक्शन की शुरूआत की और मोतीझील तक तक प्रॉयरिटी सेक्शन का प्रपोज्ड मेट्रो रूट देखा. इस बीच टीम पॉलीटेक्निक भी गई है. जहां मेट्रो यार्ड बनाया जा रहा है.