कानपुर (ब्यूरो)। प्लेन की ही तर्ज पर इस ट्रेन में भी सीटों की बुकिंग के लिए डायनमिक फेयर सिस्टम जो लागू है। जिसमें सीटों की मांग के मुताबिक ही किराया भी बढ़ता है। ऐसे में दिवाली मनाने के लिए अपने घर आना चाहते हैं तो इस ट्रेन में सफर करने में लिए आपको उतना ही किराया चुकाना पड़ सकता है जितना कि आप आम दिनों में फ्लाइट से आने में चुकाते हैं।

इस वजह से 'आसमान' पर फेयर

- प्लेन की तर्ज पर डायनमिक फेयर सिस्टम लागू

- सीटों की मांग के मुताबिक बढ़ता जाता है फेयर

- दिवाली पर घर आने के लिए है जबरदस्त मारामारी

- किसी भी नॉर्मल ट्रेन में दिवाली पर नहीं है स्पेस

- फर्स्ट एसी कोच में नहीं मिल रहा है रिजर्वेशन

दिवाली पर तेजस में सफर के किए देना होगा हवाई जहाज का किराया,बुकिंग के लिए डायनमिक फेयर सिस्टम

दोगुना से ज्यादा किराया

तेजस एक्सप्रेस में डायनमिक फेयर सिस्टम की वजह से दिवाली से ठीक एक दिन पहले यानी 26 अक्टूबर को किराया दो गुने से ज्यादा बढ़ गया है। इस दिन नई दिल्ली से कानपुर सेंट्रल आने के लिए तेजस एक्सप्रेस के चेयरकार में 3295 रुपए किराया चुकाना पड़ेगा। जबकि एग्जीक्यूटिव क्लास की एक सीट के लिए यह किराया 4,335 रुपए तक पहुंच गया है। इस ट्रेन में वेटिंग नहीं होने के चलते दिन कम होते होते यह किराया और भी ज्यादा बढऩे की उम्मीद है।

रिवर्स शताब्दी सबसे सस्ती

दिवाली के दौरान कानपुर से दिल्ली या दिल्ली से कानपुर का सफर अगर ट्रेन से करना चाहते हैं तो चार सबसे तेज और प्रीमियम ट्रेनों में कानपुर-नई दिल्ली शताब्दी एक्सप्रेस का किराया ही सबसे कम है। इसके बाद स्वर्ण शताब्दी का किराया है और उसके बाद वंदे भारत एक्सप्रेस। मालूम हो कि नई दिल्ली से कानपुर की दूरी सबसे तेज वंदे भारत ही तय करती है। वंदे भारत एक्सप्रेस से यह सफर मात्र 4 घंटे में पूरा होता है। जबकि तेजस एक्सप्रेस में यही सफर 5 घंटे में पूरा होता है।

26 अक्टूबर को नई दिल्ली से कानपुर का किराया

ट्रेन    किराया चेयरकार    एग्जीक्यूटिव

तेजस एक्सप्रेस    3,295    4,335

वंदे भारत    1,080    2,085

कानपुर शताब्दी    985    1,570

स्वर्ण शताब्दी    1,020    1,605

kanpur@inext.co.in

Posted By: Dheeraj Sharma

National News inextlive from India News Desk