-कानपुर मेट्रो के 'रास्ते' में टेलीकॉम कम्पनी की केबिल्स समेत 18 यूटिलिटी सर्विसेस की 'बाधा' करनी होगी दूर

-18 डिपार्टमेंट्स से यूटिलिटी सर्विस शिफ्ट करने का आदेश, डायवर्जन व एनओसी के लिए तैयारी हुई तेज

>kanpur@inext.co.in

KANPUR: आईआईटी से मोतीझील तक के प्रॉयोरिटी सेक्शन में कानपुर मेट्रो दौड़ाने की कोशिशें अपने अंतिम चरण में आ चुकी हैं. कानपुर को स्मार्ट सिटी बनाने की राह पर यूपी गवर्नमेंट कई स्टेप्स आगे आ चुकी है. लेकिन इससे पहले आपको थोड़ी मुश्किलें झेलनी पड़ेंगी. जिसके लिए आप पहले से अलर्ट हो जाइए. जीटी रोड से होकर सीवेज, ड्रेनेज, वाटर सप्लाई, पॉवर सप्लाई लाइन आदि गुजर रही हैं. इसी वजह से मेट्रो के रास्ते में आने वाली यूटिलिटी सर्विसेज की शिफ्टिंग, डायवर्जन व एनओसी के लिए फाइलें दौड़ाने का काम शुरू कर दिया गया है. इसके लिए लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने संबंधित डिपार्टमेंट्स को कानपुर मेट्रो का एलॉइनमेंट भी भेज दिया है. जिससे संबंधित डिपार्टमेंट व कम्पनीज वेरीफिकेशन कर यूटिलिटीज की शिफ्टिंग आदि का काम शुरू कर सकें. इस पूरे प्रॉसेस से कानपुराइट्स को थोड़ी परेशानी का सामना भी करना पड़ सकता है.

शिफ्टिंग के बिना होगी मुश्किल

कानपुर में आईआईटी से फूलबाग व सीएसए से बर्रा-8 तक मेट्रो चलनी है. फिलहाल प्रॉयोरिटी सेक्शन आईआईटी से मोतीझील तक मेट्रो दौड़ाने के लिए 676 करोड़ के टेंडर हो चुके हैं. इसमें जीटी रोड और हैलट रोड पर 8 किलोमीटर एलीवेटेड वायाडक्ट व 9 मेट्रो स्टेशन शामिल हैं. पर जीटी रोड से ही ट्रांसमिशन लाइन, केस्को की हाईटेंशन लाइन, एलटी लाइन व ट्रांसफॉर्मर, सीवेज, ड्रेनेज, वाटर लाइन, टेलीकॉम केबिल्स आदि यूटिलिटी सर्विसेज आ रही हैं. जो कानपुर मेट्रो वर्क के रास्ते में रूकावट बन सकती है. इसी वजह से पिछले लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के एमडी कुमार केशव व केडीए वीसी किंजल सिंह ने संबंधित डिपार्टमेंट के ऑफिसर्स के साथ मीटिंग भी की थी. अब एलएमआरसी ने आईआईटी से मोतीझील तक का कानपुर मेट्रो का एलॉइनमेंट तैयार कर संबधित डिपार्टमेंट्स को भेज दिया है. जिससे वे एलाइनमेंट से अपनी यूटिलिटी सर्विसेज को मिलान कर शिफ्टिंग कर ले. एलएमआरसी के असिस्टेंट इंजीनियर शिवओम जौहरी ने बताया कि यूटिलिटी सर्विसेज की शिफ्टिंग, एनओसी के लिए सभी संबंधित डिपार्टमेंट से लगातार संपर्क बनाए हुए हैं. जिससे मेट्रो वर्क शुरू होने से पहले सभी डिपार्टमेंट शिफ्टिंग आदि वर्क कर लें.

.......

मेट्रो के 'रास्ते' में आ रही ये यूटिलिटी सर्विसेज

डिपार्टमेंट-- यूटिलिटी सर्विसेज

जलनिगम-- वाटर लाइन

जलकल डिपार्टमेंट-- सीवर, वाटर लाइन

केस्को-- ओवरहेड इलेक्ट्रिसिटी लाइन

नगर निगम-स्टार्म वाटर ड्रेनेज

इरीगेशन- कैनाल

गेल--गैस पाइप लाइन

सीयूजीएल-- गैस पाइप लाइन

ट्रांसमिशन- ओवरहेड एक्स्ट्रा ट्रांसमिशन लाइन शिफ्टिंग

पीडब्ल्यूडी एनएच- जीटी रोड कंस्ट्रक्शन एंड मेंटीनेंस

पीडब्ल्यूडी - सिटी रोड

इंडियन रेलवे-रेलवे क्रॉसिंग, सिग्नल्स

बीएसएनएल व अन्य टेलीकॉम कम्पनीज-- केबल्स, जंक्शन बॉक्स आदि