ranchi@inext.co.in
RANCHI: भक्तों ने गंगाजल, बेलपत्र, अक्षत आदि से पूजन कर बाबा से सुख-समृद्धि की कामना की. सबसे ज्यादा भीड़ पहाड़ी मंदिर, रातू रोड विश्वनाथ मंदिर, चुटिया श्रीराम मंदिर, बर्धमान कंपाउंड शिव मंदिर में देखने को मिली. इसके अलावा शहर के विभन्न मुहल्लों के शिवालयों में सुबह से जलाभिषेक के लिए लाइन लगी रही. राजधानी के काफी भक्त खूंटी स्थित आम्रेश्वर धाम पहुंचे. हालांकि प्रथम दिन होने के कारण दोपहर होते-होते भीड़ छंट गई. शाम में मंदिरों में महादेव का भव्य श्रृंगार हुआ.

 

 

सुबह चार बजे खुला पट
पहाड़ी बाबा का प्रात: 3.30 बजे प्रथम पूजा हुई. सुबह चार बजे मंदिर का कपाट आम भक्तों के खोल दिया गया. इससे पूर्व वैदिक मंत्रोच्चार के बीच पहाड़ी बाबा का गंगाजल, दूध, मधु, गन्ना रस, बेलपत्र, दुर्वादल, अक्षत आदि से रुद्राभिषेक किया गया. समस्त अनुष्ठान मंदिर के मुख्य पुजारी मनोज मिश्र के नेतृत्व में संपन्न हुआ. सूर्योदय होते होते मंदिर में भक्तों की भीड़ जुट गई. बोल बम और पहाड़ी बाबा के जयकारे गूंजते रहे. दोपहर तब हजारों लोगों ने पंक्तिबद्ध होकर जलाभिषेक किया. शाम में कुछ देर के लिए दर्शन बंद कर श्रृंगार की तैयारी शुरू हुई. बाबा को रजनीगंधा, सफेद गुलाब, बेलपत्र, इत्र आदि से दिव्य श्रृंगार किया गया. श्रृंगार के बाद पुन: दर्शन आरंभ हुआ जो रात नौ बजे तक जारी रहा. पूजन के उपरांत भक्तों के बीच प्रसाद बांटे गए. मंदिर समिति के कोषाध्यक्ष अभिषेक आनंद के मुताबिक देर शाम तक करीब 10 हजार भक्तों ने पहाड़ी बाबा को जल अर्पण किया.

 

 

सीसीटीवी से निगरानी
सावन में भक्तों की भीड़ को देखते हुए अहले सुबह से ही सुरक्षा बलों की तैनाती की गई थी. इसमें महिला कर्मी भी शामिल थे. मंदिर परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे से नजर रखी जा रही थी. इसके अलावा पहाड़ी मंदिर विकास समिति के कार्यकर्ता भी व्यवस्था संचालन में जुटे हुए.