lucknow@inext.co.in
उत्तर प्रदेश के शिक्षा निदेशक माध्यमिक विनय कुमार पांडेय द्वारा सभी मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक, मंडलीय उप शिक्षा निदेशक व सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को जारी आदेश में कहा गया है कि 17 अक्टूबर गुरुवार को सभी माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत विवाहित महिलाओं के लिये अवकाश घोषित किया गया है.

पतियों के लिए करवा चौथ का कठिन व्रत रखने वाली ऐसी सभी महिलाएं इस आदेश को सुनकर बहुत खुश होंगी, जिन्हें सरकार ने इस खास दिन पर नौकरी से अवकाश प्रदान किया है।

यूपी: करवा चौथ पर विवाहित महिला टीचर्स को मिलेगा अवकाश,योगी सरकार ने दिया तोहफा

सूर्योदय से चन्द्रमा निकलने तक निर्जला व्रत
करवाचौथ के दिन सुहागिन स्त्रियां पति के मंगल और समृद्धि के लिए व्रत करती हैं। इस व्रत में सुहागिनें उस दिन सूर्योदय के पहले से चन्द्रमा निकलने तक निर्जला व्रत करती हैं। दिनभर भजन और मांगलिक एवं सात्विक कार्यो में व्यतीत रहती हैं। शाम से ही चन्द्र दर्शन तथा उसे अर्घ्य देने की तैयारी करती हैं। उस दिन वे सुन्दर वस्त्र तथा आभूषण धारणकर सम्पूर्ण श्रृंगार कर करवा की पूजा करती हैं। अर्घ्य देने के बाद ही वह कुछ ग्रहण करती हैं। 'करवाचौथ व्रत के दिन प्रेमयोग बन रहा है। ऐसे में व्रत रखने से सम्पूर्ण फल मिलेगा। व्रत के दौरान अगर कोई महिला निर्जला न रह सकें तो कुछ पेय पदार्थ ले सकती हैं।'

कब होगा चंद्र पूजन
करवाचौथ की रात 8:13 बजे पर चंद्रोदय होगा। सुहागिने उगता हुआ चांद देखकर पूजन करें। कलश में कलावा अवश्य ही बांधें। कलश पर स्वास्तिक का चिन्ह बनाएं, सतिया न बनाएं। इस दिन महिलाए सम्पूर्ण श्रंगार करती हैं। महिलाएं मेहंदी भी जरूर लगाए। गुरूवार को करवाचौथ होने के कारण इस बार का करवाचौथ अत्यंत ही फलदाई है। इसलिए महिलाएं विधि-विधान से पूजा करें। कार्तिक का महीना शिव जी को भी अत्यंत ही प्रिय है।

Posted By: Chandramohan Mishra

National News inextlive from India News Desk