JAMSHEDPUR: कीनन स्टेडियम के दिन जल्द ही फिरने वाले हैं. इसके लिए टाटा स्टील और झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन (जेएससीए) संयुक्त प्रयास कर रहा है. जेआरडी टाटा स्पो‌र्ट्स कांप्लेक्स में आयोजित मीडिया इंटरैक्शन में टाटा स्टील के उपाध्यक्ष (कॉरपोरेट सर्विसेज) चाणक्य चौधरी ने बताया कि कीनन स्टेडियम के पुनरुद्धार के दिशा में बातचीत अंतिम चरण में है. दो सप्ताह पहले रितु राज (चीफ, कॉरपोरेट रिलेशंस, टाटा स्टील) और झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों के बीच बातचीत होने वाली थी, लेकिन अपरिहार्य कारणों से यह बैठक नहीं हो सकी. इसके लिए हम गंभीरतापूर्वक प्रयासरत है. उन्होंने बताया कि 1939 में स्थापित कीनन स्टेडियम की दर्शक क्षमता 19 हजार है. यहां अंतिम बार 12 अप्रैल 2006 को भारत व इंग्लैंड के बीच अंतरराष्ट्रीय मैच खेला गया था.

राजस्व मिलने में लगेगा वक्त

भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआइ) को प्रसारणकर्ता कंपनी को मिलने वाली राजस्व की हिस्सेदारी मिलती है. यह रकम एक हजार करोड़ तक होती है. जब चाणक्य चौधरी से पूछा गया कि क्या बीसीसीआइ की तर्ज पर इंडियन सुपर लीग (आइएसएल) की विभिन्न टीमों को प्रसारणकर्ता कंपनी के लाभांश में हिस्सेदारी मिलेगी, तो उन्होंने कहा, अभी इसमें वक्त लगेगा. भारत जैसे देश में फिलहाल क्रिकेट की लोकप्रियता की तुलना फुटबॉल से करना बेमानी होगी. लेकिन, भविष्य में यह जरूर होगा.

फुटबॉल का हब बना शहर

चाणक्य चौधरी ने बताया कि जमशेदपुर अब फुटबॉल का हब बन चुका है. जब मैंने 1988 में टाटा स्टील ज्वाइन किया था, तब सुपर सॉकर की लोकप्रियता 7वें आसमान पर थी. आज भी फुटबॉल को लेकर वैसा क्रेज देखकर सुखद अनुभव होता है. टाटा फुटबॉल अकादमी ने एटलेटिको डि मैड्रिड के साथ करार किया है. नॉर्थ ईस्ट के 10 बच्चे स्पेन में प्रशिक्षण हासिल करने जा रहे हैं. शहर के पांच स्कूलों में सॉकर स्कूल खोला गया है. आने वाले समय में जमशेदपुर में अंतरराष्ट्रीय स्तर का फुटबॉल भी देखने को मौका मिलेगा.

अकादमी को किया जा रहा पुनर्जीवित

मुकुल विनायक चौधरी (चीफ, एकेडमिक्स व एक्सीलेंस, टाटा स्टील) ने बताया कि वर्ष 2004 में स्थापित टाटा एथलेटिक्स अकादमी को पुनर्जीवित किया रहा है. फिलहाल स्पो‌र्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) के साथ मेमोरंडम ऑफ अंडरस्टैडिंग (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया गया है. इसके तहत साई के प्रशिक्षक हमारे आधारभूत संरचना का उपयोग कर मध्यम दूरी के धावकों की प्रतिभा को तरासेंगे. फिलहाल 20 एथलीट प्रशिक्षण ले रहे हैं.

हॉकी अकादमी खोलने की तैयारी

मुकुल विनायक चौधरी के अनुसार कीनन स्टेडियम में नवल टाटा हॉकी अकादमी की तरह ही ओडिशा के भुवनेश्वर में राज्य सरकार के साथ मिलकर हॉकी अकादमी खोलने की तैयारी चल रही है. यह अंतिम चरण में है.