मलप्पुरम (एएनआई)। केरल के पलक्कड़ में स्थानीय लोगों द्वारा पटाखे से भरा एक अनानास खिलाए जाने के बाद एक गर्भवती हथिनी की मौत का मामला सामने आया है। यह घटना 27 मई को हुई थी, वन अधिकारियों ने उसे वेलियार नदी में खड़े देखा था। उसके निचले जबड़े में चोट लगी हुई थी। यह चोट पटाखों की वजह से आई थी, जिसे कुछ लोगों ने हथिनी को धोखे से खिला दिया था।

हथिनी के निचले जबड़े में बड़ा घाव हो चुका था

साइलेंट वैली नेशनल पार्क के वन्यजीव अधिकारी ने कहा, 'सबसे पहले, हमने 23 मई को इस हथिनी के बारे में जानकारी मिली थी। हमें स्थानीय लोगों द्वारा सूचित किया गया कि एक हथिनी जंगल के निजी क्षेत्र में घूम रही है। इसके बाद नेशनल पार्क के एक कर्मचारी ने हथिनी को देखा, तो उसके होश उड़ गए। हथिनी के निचले जबड़े में बड़ा घाव हो चुका था। वह करीब 24 घंटे तक पानी की तलाश में इधर-उधर घूमती रही। फिर 24 मई को हमें सूचना मिली कि हथिनी वेल्लियार नदी में आ गई है। "

डॉक्टर भी नहीं बचा सके जान

वन्यजीव अधिकारी ने आगे बताया, 'हथिनी को ढूंढने के बाद हमने उसे खाना खिलाने की कोशिश की, मगर उसने कुछ खाया नहीं सिर्फ पानी पिया। वह बहुत कमजोर हो चुकी थी इसलिए पशु चिकित्सक को बुलाना पड़ा। डॉक्टर ने निरिक्षण करने के बाद बताया कि इसका बच पाना मुश्किल है। बाद में हथिनी को नदी से बाहर निकालने की योजना बनाई गई लेकिन वह बाहर नहीं आ सकी। और कुछ देर बार उसकी मौत हो गई।

आज शव को जलाया जाएगा

अधिकारी ने बताया कि दो डॉक्टर यहां पोस्टमार्टम करने के लिए घटनास्थल पर हैं और उसके बाद शव को जलाया जाएगा। उन्होंने कहा, "मौत का कारण अभी तक खोजा नहीं जा सका है और आगे की जांच जारी है।" हथिनी के घाव में इतना दर्द हो रहा था कि वह सूंड़ और मुंह को पानी में के अंदर डुबाए काफी देर तक खड़ी रही।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

National News inextlive from India News Desk