सऊदी अरब में रुपया कमजोर होने से हज यात्रियों पर बढ़ गया आर्थिक बोझ

दस जुलाई से पहले जमा करानी होगी बढ़ी हुई रकम

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: सऊदी अरब में भारतीय रुपए के कमजोर होने का खामियाजा हज यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है. इसके चलते उन्हें रवानगी से ठीक पहले अतिरिक्त रकम जमा करानी होगी. यह उनके लिए किसी परेशानी से कम नहीं है. जानकारी के मुताबिक दस जुलाई से पहले हज यात्रियों को खाते में यह पैसा जमा कराना होगा.

864 यात्रियों पर पड़ा बोझ

जिले से इस साल 864 यात्रियों को हज के लिए उड़ान भरनी है. सभी ने अपनी कैटेगरी की रकम पहले जमा करा दी है. लेकिन, लास्ट ऑवर्स में राज्य सरकार ने यात्रियों से अतिरिक्त रकम जमा कराने की अपील की है. इनमें से ग्रीन कैटेगरी में प्रति हजयात्री 7750 और अजीजिया कैटेगरी में प्रति यात्री 7150 रुपए जमा कराने हैं. इसकी अंतिम तिथि दस जुलाई निर्धारित की गई है.

कितना कमजोर हो गया रुपया

पूर्व में एक सउदी रियाल की भारतीय कीमत 17 रुपए 39 पैसे थी, जो अब बढ़कर 18 रुपए 29 पैसे हो गई है. ऐसे में हज यात्रियों को अलग से पैसे जमा कराने पड़ रहे हैं. इसके चलते बस भाड़ा, मेट्रो भाड़ा, मीना में लगने वाले टेंट का किराया महंगा हो गया है. बता दें कि लखनऊ की फ्लाइट 14 जुलाई और वाराणसी से हज की फ्लाइट 20 जुलाई से शुरू होगी.

नहीं लगा तो लगवा लें टीका

उधर खुद्दामाने हज कमेटी के पदाधिकारियों ने बताया कि जिन यात्रियों को हज का टीका नहीं लग सका है कि वह नुरुल्लाह रोड स्थित पालकी गेस्ट हाउस में कमेटी के कार्यालय में अपना कार्ड ले सकते हैं. यह कार्ड लेकर सीएमओ कार्यालय में डॉ. एएन मिश्रा से शाम चार से पांच बजे के बीच टीकाकरण करवा सकते हैं.

हज यात्रियों को अपनी फ्लाइट की जानकारी वेबसाइट पर सात से आठ दिन पहले मिल जाएगी. तारीख पता चलते ही हमसे संपर्क करें. दस जुलाई से पहले बढ़ी हुई रकम हज यात्रियों को जमा करानी है.

हाजी मोइन अहमद खां, सचिव, खुद्दामाने हज कमेटी इलाहाबाद