- एंट्री के दौरान करते हैं चेकपोस्ट पार, फिर रोक देते हैं डंपर

बाद में अपनी जरूरत के अनुसार शहर में चलते हैं

देहरादून, पुलिस की सख्ती के बाद डंपर चालकों ने नो एंट्री के दौरान शहर की सड़कों पर चलने का आसान तरीका ढूंढ़ लिया है. डंपर चालक एंट्री के दौरान चेक पोस्ट पार करके शहर में प्रवेश करते हैं और उसके बाद डंपर को सड़क किनारे खड़े कर देते हैं. इसके बाद जब भी उनको निकलना होता है आराम से सड़कों पर दौड़ते रहते हैं, क्योंकि शहर के भीतर उन्हें रोकने की कोई व्यवस्था नहीं है. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की ओर से रियलिटी चेक के दौरान शहर के अलग-अलग जगहों पर यह नजारा देखने को मिला है. डंपरों के कारण सड़कों पर जाम की स्थिति पैदा हो जाती है.

आईएसबीटी के आगे डंपर का कब्जा

रियलिटी चेक के दौरान आईएसबीटी पुलिस चौकी के गेट के सामने कई डंपर खड़े देखे. जिनकी वजह से आने जाने वाले वाहनों को दिक्कत हो रही थी. सब कुछ जानते हुए भी पुलिस इनको हटाने के लिए तैयार नहीं है. यह पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठाता है.

पटेलनगर में भारी वाहन पार्क

पटेलनगर के निरंजपुर इलाके और शिमला बाईपास सड़क पर भी भारी वाहन खड़े मिले. ड्राइवर उस वक्त भारी वाहन का प्रवेश शहर में कराते हैं, जिस समय एंट्री का समय होता है, लेकिन उसके बाद सड़कों पर खड़ा कर देते हैं. जिसकी वजह से जाम का खतरा बनने के साथ ही पैदल चलने वाले लोगों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

पीएचक्यू के आदेश ठेंगे पर

बीते गुरुवार को शिमला बाईपास पर डंपर की चपेट में आकर एक स्कूली छात्रा की मौत हो गई थी. इसके बाद डीजी अशोक कुमार ने आदेश दिए थे कि डंपर को नो एंट्री के समय शहर में प्रवेश करने न दिया जाए और सड़क पर खड़े भारी वाहनों को हटाया जाए. अभी आदेश दिए हुए 24 घंटे का समय भी नहीं हुआ. जिला पुलिस ने डीजी के आदेश को ठेंगा दिखा दिया.

----------------

आदेश के बाद भी सड़क पर डंपर यदि खड़े हैं, तो उसकी जांच की जाएगी. नो एंट्री के बाद भारी वाहनों का शहर में प्रवेश वर्जित होने के साथ ही सड़क किनारे खड़े वाहनों को हटाने के आदेश दिए गए हैं.

अशोक कुमार, डीजी लॉ एंड ऑर्डर