पेशवाई का मार्ग बदलने को लेकर शुरू हुआ विवाद

पुराने शहर से पेशवाई निकालने पर प्रशासन ने फंसाया पेंच

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: संगम नगरी प्रयागराज में शुरू होने वाले कुंभ में पहली बार शामिल होने जा रहे किन्नर अखाड़ा और प्रशासन के बीच विवाद शुरू हो गया. किन्नर अखाड़े की पेशवाई को लेकर निर्धारित मार्ग को अचानक बदलने की बात को लेकर किन्नर अखाड़ा ने प्रशासन को पुर्नविचार के लिए अल्टीमेटम दे दिया. किन्नर अखाड़ा की प्रमुख आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी ने कहा कि पेशवाई के लिए मार्ग का निर्धारण पहले से किया गया है. इसकी सूचना करीब एक माह पहले प्रशासन के अधिकारियों को दी गई थी. अभी तक प्रशासन की ओर से कोई अड़ंगा नहीं लगाया गया. पेशवाई 6 जनवरी को निकलनी है. ऐसे में एक जनवरी को मार्ग को लेकर पेच फंसाना ठीक नहीं है. अगर प्रशासन ने अपने निर्णय पर फिर से विचार नहीं किया तो किन्नर अखाड़ा विरोध करेगा.

भीड़भाड़ को बताया समस्या

किन्नर अखाड़ा की ओर से पहली बार प्रयागराज कुंभ में पेशवाई की तैयारी थी. इसके लिए किन्नर अखाड़ा की ओर से पुराने शहर को चुना गया था. किन्नर अखाड़ा के प्रमुख की माने तो उन्होंने डीआईजी कुंभ, डीएम मेला, एडीएम सिटी समेत अन्य अधिकारियों को पूर्व में सूचना और रूट प्लान दे दिया था. मंगलवार को प्रशासनिक अधिकारियों ने किन्नर अखाड़ा प्रमुख से मिलकर रूट बदलने की बात कही. प्रशासन के अधिकारियों का कहना था कि पुराने शहर में भीड़भाड़ अधिक है. ऐसे में वहां से पेशवाई निकालने में दिक्कत होगी. इस पर किन्नर अखाड़ा ने पूर्व निर्धारित मार्ग से ही पेशवाई निकालने की बात कही है. किन्नर अखाड़ा की ओर से 24 घंटे का समय प्रशासन को दिया गया है.