मुंबई (एएनआई)। न्यूयॉर्क स्थित वैश्विक निवेश फर्म कोलबर्ग क्रेविस एंड राॅबर्ट्स (केकेआर) ने जियो प्लेटफार्मों में 11,367 करोड़ रुपये करने का एलान किया है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) द्वारा शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा गया, 'रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और Jio प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड ने आज घोषणा की है कि KKR जियो प्लेटफार्मों में 11,367 करोड़ रुपये का निवेश करेगा। यह लेनदेन Jio प्लेटफार्मों को 4.91 लाख करोड़ रुपये के इक्विटी मूल्य और 5.16 लाख करोड़ रुपये के उद्यम मूल्य पर मूल्य देता है।' यह निवेश पूरी तरह से Jio प्लेटफॉर्म्स में 2.32 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी में तब्दील होगा।

कौन है केकेआर

उल्लेखनीय है कि पिछले महीने में फेसबुक, सिल्वर लेक, विस्टा, जनरल अटलांटिक और अब केकेआर जैसे प्रमुख प्रौद्योगिकी निवेशकों ने Jio प्लेटफार्मों में अब तक कुल 78,562 करोड़ रुपये कुल निवेश की घोषणा कर चुके हैं।Jio नेक्स्ट जनरेशन टेक्नोलाॅजी पर काम कर रहा। जो भारत भर में उच्च-गुणवत्ता और सस्ती डिजिटल सेवाएं प्रदान करने पर केंद्रित है। 388 मिलियन से अधिक ग्राहकों के साथ, केकेआर का वैश्विक उद्यमों के निर्माण का एक लंबा इतिहास है। कंपनी सफलतापूर्वक प्रौद्योगिकी व्यवसायों में निवेश करती रही है। अपनी स्थापना के बाद से, केकेआर ने टेक कंपनियों में 30 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक का निवेश किया है। आज, फर्म के प्रौद्योगिकी पोर्टफोलियो में प्रौद्योगिकी, मीडिया और दूरसंचार क्षेत्रों में 20 से अधिक कंपनियां हैं।

मुकेश अंबानी ने किया स्वागत

रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, मुकेश अंबानी ने कहा, "केकेआर, दुनिया के सबसे सम्मानित वित्तीय निवेशकों में से एक है। भारतीय डिजिटल दुनिया में कदम रखने और हमारे साथ आगे बढ़ने के लिए केकेआर का धन्यवाद करते हैं। केकेआर के पास उद्योग-अग्रणी फ्रेंचाइजी के लिए एक मूल्यवान भागीदार होने का एक सिद्ध ट्रैक रिकॉर्ड है और कई वर्षों से भारत के लिए प्रतिबद्ध है। हम केकेआर के वैश्विक मंच, उद्योग ज्ञान और परिचालन विशेषज्ञता का लाभ उठाने के लिए तत्पर हैं।" केकेआर के सह-संस्थापक और सह-सीईओ हेनरी क्राविस ने कहा, "कुछ कंपनियों के पास देश के डिजिटल इकोसिस्टम को उस तरह से बदलने की क्षमता है जो Jio Platforms भारत में कर रही है, यही वजह है कि हम इसमें निवेश कर रहे हैं।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Business News inextlive from Business News Desk

inext-banner
inext-banner