नई दिल्ली (पीटीआई)। किंग्स इलेवन पंजाब के सह-मालिक नेस वाडिया ने बीसीसीआई को लिखा है कि आईपीएल 2020 के हर मैच की शुरुआत से पहले भारतीय राष्ट्रगान बजाया जाना चाहिए। अभी तक राष्ट्रगान किसी अंतरराष्ट्रीय खेल की शुरुआत से पहले बजाए जाते हैं लेकिन वाडिया को लगता है कि दुनिया की नंबर एक क्रिकेट लीग में यह नियम होना चाहिए। उन्होंने आईपीएल की महंगी ओपनिंग सेरेमनी को खत्म करने के लिए बीसीसीआई की सराहना की।

प्रत्येक मैच से पहले राष्ट्रगान बजना चाहिए

वाडिया ने पीटीआई को बताया कि 'यह एक बढि़या कदम है। समय आ गया था कि कोई ओपनिंग सेरेमनी नहीं हो। मैंने हमेश इस ओपनिंग सेरेमनी के फायदे और आवश्यकता को लेकर आश्चर्य किया है। एक चीज जो उन्हें (बीसीसीआई) करनी चाहिए वह है राष्ट्रगान। प्रत्येक मैच से पहले राष्ट्रगान बजना चाहिए क्योंकि यह इंडियन प्रीमियर लीग है।' उन्होंने कहा कि 'मैंने बीसीसीआई को पहले भी लिखा था और अब मैंने श्री सौरव गांगुली (बीसीसीआई अध्यक्ष) को लिखा है। और मुझे लगता है कि यह अभी भी सिनेमाघरों में बजाया जाता है।'

प्रो-कबड्डी लीग में भी बजाया जाता है राष्ट्रगान

राष्ट्रगान इंडियन सुपर लीग (फुटबॉल) और प्रो-कबड्डी लीग में भी बजाया जाता है। उन्होंने कहा, 'यह इंडियन प्रीमियर लीग है। हमें गर्व होना चाहिए कि हमारे पास क्या है, जो एक अद्भुत राष्ट्रगान और एक अद्भुत लीग है। एनबीए में भी, हर खेल से पहले राष्ट्रगान बजाया जाता है।' इस हफ्ते की शुरुआत में, आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने कई फ्रैंचाइजी के इस प्रस्ताव पर चर्चा की जिसमें वे 'विदेश में फ्रेंडली गेम' खेलना चाहते थे, लेकिन इसके लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के आगामी टूर प्रोग्राम के अधिक विस्तृत अध्ययन की आवश्यकता होगी। मामले पर टिप्पणी करते हुए वाडिया ने उम्मीद जताई कि बीसीसीआई निकट भविष्य में आईपीएल ब्रांड को देश से बाहर ले जाने पर विचार करेगी।

सभी शेयरहोल्डर्स के लिए फायदेमंद

वाडिया ने कहा, 'आईपीएल एक भारतीय टूर्नामेंट है। हालांकि, अगर कोई अपनी पहुंच का विस्तार कर सकता है, तो यह केवल बीसीसीआई सहित सभी शेयरहोल्डर्स के लिए फायदेमंद होगा क्योंकि यह एक अंतरराष्ट्रीय आयोजन भी है। यदि आप दुनिया भर के शीर्ष फुटबॉल लीग को देखते हैं, तो आप उन्हें विदेशों में बहुत सारी प्री-सीजन फ्रेंडली गेम खेलते हुए देखते हैं। यह विजिबिलिटी व रीच बढ़ाता है और अंततोगत्वा आईपीएल की वैल्यू बढ़ाता है। बीसीसीआई को इस पर विचार करना चाहिए। यह अच्छा होगा कि दुनिया की नंबर एक क्रिकेट लीग उसका अनुकरण करें जो अन्य स्पोर्ट्स लीग ने किया है। एनबीए भारत और चीन में भी आया है। समस्या शेड्यूलिंग की है और यही वह जगह है जहां बीसीसीआई की भूमिका है।'

Posted By: Mukul Kumar

Cricket News inextlive from Cricket News Desk