आई एक्सक्लूसिव

-कैंडिडेट सेलेक्शन प्रॉसेस पर गवर्नमेंट का ग्रीन सिग्नल मिलना है

-एकेटीयू ने सेंटर के बजट की पहली किश्त अभी तक जारी नहीं की गई

-स्किल डेवलपमेंट सेंटर में 8 कोर्स शुरू करने की सिर्फ कवायद ही जारी

>kanpur@inext.co.in

KANPUR : बजट के अभाव में युवाओं का स्किल डेवलप नहीं हो पा रहा है. कई महीनों से स्किल डेवलपमेंट सेंटर का कार्य भी शुरू नहीं हो पाया है. यही नहीं स्किल डेवलपमेंट सेंटर में ट्रेनिंग लेने वाले कैंडिडेट्स का सेलेक्शन प्रॉसेस अभी तक फाइनल नहीं हो पाया है. यूपीटीटीआई डायरेक्टर ने इस मैटर पर गवर्नमेंट को सेलेक्शन प्रॉसेस का प्रपोजल भेज दिया था, लेकिन शासन से अभी तक कोई जवाब नहीं आया है.

15 करोड़ में एक भी पैसा नहीं मिला

यूपी गवर्नमेंट कारीगरों का ओर बेहतर हुनर देने के लिए स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम शुरू करने की दिशा मे काम कर रही है. यूपीटीटीआई को स्किल डेवलपमेंट सेंटर डेवलप करने की तैयारी कर ली गई है. सेंटर को पांच साल चलाने के लिए 15 करोड़ रुपए का बजट देने की व्यवस्था की गई, लेकिन एकेटीयू ने अभी तक सेंटर के लिए एक भी रुपए का बजट जारी नहीं किया है. बजट न मिलने की वजह से ही सेंटर का काम काज अभी तक शुरू नहीं हो पाया है.

इन कोर्स की ट्रेनिंग मिलेगी

- स्पिनिंग

- वीविंग

- निटिंग

- कढ़ाई

- डाइंग एण्ड पेंटिंग

- गारमेंट

तीन साल का अनुभव तीन हजार फीस

कैंडिडेट को कम से कम उस इंडस्ट्री में तीन साल का काम करने का अनुभव होना चाहिए. शैक्षिक योग्यता आठवीं पास होना चाहिए. अगर शैक्षिक योग्यता नहीं है लेकिन हुनर और अनुभव है तो उस एडमिशन मिल सकता है. सेंटर के नोडल इंचार्ज प्रो. प्रमोद कुमार ने बताया कि बजट न मिलने की वजह से सेंटर शुरू नहीं हो पाया है. कैंडिडेट को प्रति दिन करीब 120 रुपए भत्ता मिलेगा, ट्रेनिंग के बाद कैंडिडेट को सर्टिफिकेट दिए जाएंगे.