- गांधी उद्यान के पास पुलिस ने तीन नेपाली महिलाओं से बरामद की पांच किलो चरस

-उत्तराखंड सहित कई डिस्ट्रिक्ट में करती थीं चरस की सप्लाई

बरेली : नेपाल के रास्ते शहर और देहात क्षेत्रों में चरस, अफीम की सप्लाई करने वाला महिलाओं का गिरोह पनपता जा रहा है। मंडे को गांधी उद्यान के पास कोतवाली पुलिस ने तीन नेपाली महिलाओं को पांच किलो चरस के साथ पकड़ लिया। लम्बे समय से नेपाली महिलाएं चरस और अफीम की सप्लाई नेपाल से करती है। फिलहाल पुलिस ने पकड़ी गई महिलाओं पर एनडीपीएस एक्ट की धारा में मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया है। पिछले तीन साल में नार्कोटिक्स विभाग ने नशीले पदार्थो की तस्करी के मामले में 53 महिलाओं को पकड़कर जेल भेजा है। उनके पास से करीब 94 किलो चरस बरामद की जा चुकी है।

चार साल से कर रही तस्करी

पुलिस के मुताबिक नेपालगंज के जिला नेपालवार्के की मीना गिरी कई दिनों से बारादरी एरिया में किराए पर कमरा लेकर रहती थी। चार साल पहले उसके पति जाने बुझधर की मौत हो गई थी। फिर पैसा कमाने के लिए वह चरस की तस्करी में कूद गई। वह अपनी सहेली ललिता और गंगा उर्फ धनसरा के साथ नेपाल से चरस की तस्करी करने लगी। तीनों कई जिलों व पहाड़ी इलाकों में चरस की सप्लाई करती थीं।

15 लाख है चरस की कीमत

मंडे का वह तीनों गांधी उद्यान पर चरस की सप्लाई करने आई थी। इसी बीच पुलिस को उनकी भनक लग गई। फिर पुलिस तीनों को हिरासत में लेकर कोतवाली ले आई। पुलिस बताया कि उनके बैग से करीब पांच किलो चरस मिली है। जिसकी कीमत लगभग छह लाख रुपए है। जबकि अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में करीब 15 लाख रुपए कीमत होगी।

दर्शन के लिए आती है महिलाएं

नार्कोटिक्स विभाग की मानें तो डिस्ट्रिक्ट में भारत-नेपाल सीमा के रास्ते तस्करी का धंधा सालों से चल रहा है। जिसमें नेपाली महिलाएं उत्तराखंड में दर्शन करने के बहाने आती हैं। वह शहर में चोरी-छिपे अफीम और चरस की तस्करी करती हैं।

तीन सालों में पकड़ी गई महिलाएं

साल -2017

महीना अरेस्ट

जनवरी 04

मई 03

अगस्त 06

अक्टूबर 07

दिसम्बर 04

टोटल 24

साल - 2018

महीना अरेस्ट

मार्च 06

जून 02

अगस्त 04

नवम्बर 05

दिसम्बर 03

टोटल 20

साल - 2019

महीना अरेस्ट

फरवरी 2

मई 4

जून 3

टोटल 09

महिलाओं के पास मिली चरस की अन्तर्राष्ट्रीय कीमत पंद्रह लाख रुपए है। तीनों महिलाएं नेपाल के नेपालगंज जिला नेपालवार्के की रहने वाली है। पुलिस इनके सभी नेटवर्क को खंगाल रही है। तीनों को एनडीसीएस एक्ट में जेल भेज दिया है।

रविन्द्र सिंह, एसपी सिटी

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner