फूड आइटम्स की जांच के लिए जीएस 1 स्मार्ट कंज्यूमर ऐप के जरिए लोग खुद कर सकते हैं जांच

फूड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने जारी की नई ऐप

Meerut. अगर आप फूड प्रोडक्ट्स के डुप्लीकेट होने की पहचान नहीं कर पाते हैं और उन्हें ही असली समझने की भूल कर बैठते हैं तो ये खबर आपके लिए बेहद जरूरी है. दरअसल, डुप्लीकेट फूड प्रोडक्ट्स की पहचान के लिए फूड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने नई ऐप जारी की है. जीएस 1 स्मार्ट कंज्यूमर नाम की इस ऐप के जरिए उपभोक्ता एक क्लिक पर प्रोडक्ट के बारे में सभी जानकारी हासिल कर सकता है. यही नहीं अगर प्रोडक्ट फेक निकलता है तो विभाग को उसकी शिकायत भी की जा सकती है.

ऐसे काम करेगी ऐप

प्ले स्टोर से स्मार्ट कंज्यूमर ऐप डाउनलोड कर लें.

एंड्रॉयड और आईओएस दोनों ही फोन में ये उपलब्ध है.

ऐप को ओपन करके जिस प्रोडक्ट के बारे में पहचान करनी है. उसके पीछे दिए गए बारकोड को ऐप के जरिए स्कैन कीजिए.

अगर बारकोड स्कैन नहीं हो पाता है तो जी-टिन नंबर को ऐप में एंटर कीजिए.

बारकोड स्कैन करते ही प्रोडक्ट की सारी डिटेल्स सामने आ जाएगी.

इसमें मैन्यूफैक्चरर का नाम, पैकिंग डिटेल्स, कॉमोडिटी नेम, नेम एंड एड्रेस ऑफ इंर्फोटर, एमआरपी समेत एफएसएसएआई लाइसेंस नंबर व कस्टमर केयर जैसी जानकारी उपलब्ध होंगी.

बारकोड स्कैन करने के बाद भी अगर जानकारी नहीं आती है तो हो सकता है प्रोडक्ट नकली है.

अगर किसी प्रोडक्ट की पैकेजिंग और स्टिकर खराब है, तब भी इस ऐप का इस्तेमाल करके उस प्रोडक्ट की सारी जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

रेट्स में बदलाव की जानकारी

जीएस 1 ऐप के जरिए न केवल प्रोडक्ट्स की ड्प्लीकेसी की जांच हो सकेगी बल्कि रेट्स और पैकिंग डिटेल्स में बदलाव की जानकारी भी तुरंत मिल जाएगी. अगर कोई दुकानदार एमआरपी बदलकर सामान बेचता है तो इस ऐप की मदद से मैन्यूफैक्चरर की ओर से प्रिंट रेट्स का आसानी से पता लगाया जा सकता है. इसके अलावा अगर कोई और भी समस्या है तो ऐप की मदद से जानकारी हासिल की जा सकती है.

ऐसे करें शिकायत

प्रोडक्ट के डुप्लीकेट होने पर एफएसडीए की हेल्पलाइन नंबर 1800 180 5533 पर सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक संपर्क कर सकते हैं. इसके अलावा मेडिकल कॉलेज स्थित फूड विभाग में सीधे शिकायत दर्ज करवा सकता है. 9411471076 नंबर पर कॉल करके भी सूचना दी जा सकती है. फूड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया की वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू. एफएसएसएआई.कॉम पर जाकर भी शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है.

फूड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने कंज्यूमर अफेयर के साथ मिलकर ऐप तैयार कराया है. इसके जरिए लोग डुप्लीकेट प्रोडक्टस की जांच कर सकते हैं.

अर्चना धीरान, डीओ, फूड विभाग