- वीआरसी से मिले पिस्टल

- रिमांड की मियाद पूरी होने पर वापस जेल भेजा गया बच्चा राय

PATNA : टॉपर्स घोटाले की जांच कर रही एसआईटी की टीम रविवार को एक बार फिर बच्चा राय के विशुन राय कॉलेज में छापेमारी करने पहुंची थी. इस बार कॉलेज के ऑफिस की आलमारियों को खंगाला गया. इसी दौरान एक आलमारी से एसआईटी के हाथ लगी 9 एमएम की एक पिस्टल और भ् गोली. पिस्टल मेड इन मुंगेर है. कॉलेज में पिस्टल और गोली की बरामदगी से ये बात साबित हो गई है कि बच्चा राय रुपयों के साथ-साथ हथियारों का भी शौकीन है. अब इससे बच्चा राय की मुश्किलें और भी बढ़ जाएंगी. माना जा रहा है कि एसआईटी के बयान पर भगवानपुर थाना में बच्चा राय के खिलाफ आ‌र्म्स एक्ट का एफआईआर दर्ज कराया जाएगा. पटना के एएसपी ऑपरेशन अनुपम कुमार और फुलवारी शरीफ के एएसपी राकेश कुमार की अगुआई में गई एसआईटी को कॉलेज के ऑफिस से और भी दस्तावेज मिले हैं. जिनकी जांच शुरू हो गई है.

- लालकेश्वर और ऊषा से करता था बात

एसआईटी के हाथ एक और ठोस सबूत लगा है. वो है तीन लोगों के मोबाइल का कॉल डिटेल यानी सीडीआर. इस रिपोर्ट से साफ हो गया है कि पूर्व चेयरमेन डा. लालकेश्वर, उनकी पत्‍‌नी डा. उषा सिन्हा और विशुन राय कॉलेज का प्रिंसिपल बच्चा राय. ये तीनों मोबाइल पर हर वक्त एक-दूसरे से बने रहते थे. तीनों के बीच बातें होती थी. बच्चा, लालकेश्वर और उनकी पत्‍‌नी को खुद ही कॉल करता रहता था. सीडीआर के अनुसार इंटरमीडिएट एग्जाम से पहले, बीच में और एग्जाम के बाद. जिस तरह से कॉल डिटेल के रिकार्ड मिले हैं, उसे देख एसआईटी के अधिकारी भी दंग है.

- आमने-सामने हुई पूछताछ

रिमांड पर लिए गए बच्चा राय और हिरासत में ली गई उनके कॉलेज की लेक्चरर वीणा सिंह को एसआईटी ने एक-दूसरे के आमने-सामने बैठाया. फिर दोनों से घोटाले से जुडे़ सवाल पूछे गए. एसआईटी के सवालों पर वीणा ने बच्चा राय के सामने इंटर की परीक्षाओं में बरती गई लापरवाहियों के बारे में बताया. साथ ही कई ऐसी बातें बताई, जिसका उपयोग बतौर सबूत किया जाएगा.

- दोनों भेजे गए जेल

पूछताछ के बाद एसआईटी ने वीणा सिंह को गिरफ्तार कर लिया. दरअसल, वीणा सिंह का नाम विशुन राय ट्रस्ट के क्फ् लोगों में शामिल है. इनके खिलाफ भी सबूत मिले हैं. इस मामले में ये अब तक की क्0वीं गिरफ्तारी है. वहीं, बच्चा राय की भी दो दिनों के रिमांड की मियाद रविवार के दोपहर पूरी हो गई. जिसके बाद उसे भी जेल भेज दिया गया.

- लालकेश्वर की तलाश में जारी है छापेमारी

फरार लालकेश्वर प्रसाद सिंह और ऊषा सिन्हा की तलाश में एसआईटी ने राज्य के अलग-अलग स्थानों के साथ-साथ पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश और झारखंड में दबिश बढ़ा दी है.

- हिरासत में फुफेरे भाई की पत्नी

एसआइटी ने वैशाली के विदुपुर थानाक्षेत्र के चांदपुर सैदाबाद गांव में छापेमारी की. वहां बच्चा राय के फुफेरे भाई नंदकिशोर सिंह का घर है. नंद किशोर, बच्चा राय के कॉलेज में काम करता है और ट्रस्ट का मेंबर भी है. इस छापेमारी में वह एसआइटी के हाथ नहीं लग सका, लेकिन उसकी पत्नी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. नंदकिशोर के बारे में उससे पूछताछ की जा रही है.

सीडीआर में बच्चा राय, लालकेश्वर और उनकी पत्‍‌नी के बीच हुई बातों को डिटेल मिला है. सीडीआर को अच्छे से खंगाला जा रहा है. पूछताछ के दौरान बच्चा राय से कुछ आपत्तिजनक बातें भी पता चली हैं, जिसकी जांच की जा रही है.

मनु महाराज, एसएसपी पटना