दुबई साइनबोर्ड से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हुई बस 12 भारतीयों समेत 17 की मौत

2019-06-07T18:11:35Z

दुबई में पर्यटकों की बस साइनबोर्ड से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस हादसे 12 भारतीयों समेत 17 लोगों की मौत हो गई है।

दुबई (आईएएनएस)। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के दुबई शहर में ओमान से आ रही पर्यटकों की एक बस रास्ते में लगे साइनबोर्ड से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस भयानक हादसे में 12 भारतीयों समेत 17 लोगों की मौत हो गई है। दुबई में भारत के दूतावास ने शुक्रवार को इस बात की पुष्टि की। इस टूरिस्ट बस में विभिन्न देशों के 31 यात्रियों सवार थे और यह बस गुरुवार की शाम 5.40 बजे अल रशीदिया निकास पर लगे साइनबोर्ड से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस दुर्घटना में नौ लोग घायल हुए हैं जिनमें पांच की हालत गंभीर है। पहले इस हादसे में आठ भारतीयों के मारे जाने की खबर थी लेकिन अब संख्या बढ़ गई है। दुबई में भारत के महावाणिज्य दूत विपुल ने खलीज टाइम्स को बताया कि दुर्घटना में मरने वाले भारतीयों की संख्या बाद में बढ़कर 12 हो गई।

परिजनों से कर रहे हैं संपर्क
विपुल ने कहा कि सभी शवों को शनिवार या रविवार को वापस भेजना शुरू कर दिया जायेगा। भारतीय वाणिज्य दूतावास का कहना है कि हादसे में जान गंवाने वाले कुछ लोगों के परिजनों से संपर्क कर लिया गया है और अन्य के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। दूतावास के अनुसार, दुर्घटना में जान गंवाने वाले भारतीयों में राजगोपालन, फिरोज खान पठान, रेशमा फिरोज खान पठान, दीपक कुमार, जमालुद्दीन अर्कावेत्तिल, किरन जॉनी, वासुदेव और तिलकराम जवाहर ठाकुर शामिल हैं। इसके अलावा गल्फ न्यूज ने बताया कि मरने वाले भारतीयों में उमर चोनोकवदथ और उनके पुत्र नबील उमर भी शामिल हैं। हालांकि दो और लोगों के नाम अभी तक जारी नहीं किये गए हैं। चार भारतीयों को रशीद अस्पताल में इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई।
रमजान : दुबई में भारतीय ईसाई ने मुस्लिम मजदूरों के लिए पहले बनाई मस्जिद, अब 800 लोगों को दिया इफ्तार
गलत दिशा से जा रही थी बस
गौरतलब है कि यह हादसा उस समय हुआ जब ओमान से आई बस गलत दिशा से अल रशीदिया मेट्रो स्टेशन की तरफ जा रही थी। साइनबोर्ड से टकराने के कारण बस के बाएं हिस्से की खिड़कियां टूट गईं। हादसे में जान गंवाने वाले ज्यादातर लोग बायीं ओर ही बैठे थे। भारतीय वाणिज्य दूतावास ने पीडि़तों के परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त की हैं। एक ट्वीट में दूतावास ने कहा, 'महावाणिज्यदूत व अन्य अधिकारी घायलों और उनके परिजनों से मिलने अस्पताल पहुंचे। पीडि़तों को हर संभव मदद का भरोसा दिया गया है। घायलों के इलाज के लिए अधिकारियों ने अस्पताल और पुलिस प्रशासन के कर्मियों से भी मुलाकात की।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.