पलामू में भिड़े नक्सली गुट 16 की हत्या

2014-08-12T07:00:21Z

--माओवादियों ने टीपीएससी के 16 नक्सलियों को मौत के घाट उतारा

--माओवादियों ने लकड़बंधा घटना का लिया बदला, सभी डेड बॉडी लेकर भाग निकले साथी

RANCHI: झारखंड के पलामू डिस्ट्रिक्ट के विश्रामपुर थाना एरिया के कौडिया में शुक्रवार की देर रात माओवादियों ने टीपीएससी (तृतीय प्रस्तुति संचालन कमिटी) के क्म् नक्सलियों की गोली मारकर हत्या कर दी। टीपीएससी के इलाके में आकर माओवादियों ने पहले सबको चारों ओर घेर लिया और नरसंहार की घटना को अंजाम दिया। इस खूनी खेल में क्म् लोगों के मारे जाने की खबर है, जबकि ग्रामीणों का कहना है कि मृतकों की संख्या अधिक है।

शव ले भागे साथी

हत्याकांड को अंजाम देने के बाद सभी माओवादी वहां से भाग निकले। घटना के बाद टीपीएससी नक्सलियों का दूसरा जत्था ट्रैक्टर लेकर घटनास्थल पर पहुंचा और सभी डेड बॉडी लेकर निकल भागा। इस कारण पुलिस को एक भी डेड बॉडी घटनास्थल से बरामद नहीं हो सकी है।

सैटरडे की दोपहर पहुंची पुलिस

पुलिस प्रवक्ता अनुराग गुप्ता ने क्ब् लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है। घटना की सूचना पाकर सैटरडे की दोपहर एसपी वाईएस रमेश के नेतृत्व में पुलिस और सुरक्षाबल के जवान घटनास्थल पहुंचे। पुलिस ने इलाके में खोजबीन शुरू कर दी है।

सीएम ने उठाया था सवाल

गौरतलब है कि हाल में विधानसभा में विधि व्यवस्था पर चर्चा के दौरान सीएम हेमंत सोरेन ने कहा था कि एक्स डीजीपी वीडी राम ने ही टीपीएससी का गठन करवाया था। इस मामले पर काफी हंगामा मचा था। वीडी राम ने कहा था कि उनका इस मामले से काई लेना देना नहीं है। वीडी राम वर्तमान में पलामू से भाजपा के सांसद हैं।

क्0 हत्या का बदला क्ब् से

इस घटना को लेकर कहा जा रहा है कि माओवादियों ने चतरा के लकड़बंधा में हुई घटना के प्रतिशोध में अंजाम दिया है। ख्8 मार्च ख्0क्फ् को लकड़बंधा गांव में दस माओवादियों की टीपीएससी के नक्सलियों ने हत्या कर दी थी। उनके हथियार भी लूट लिए थे। यह वारदात तब प्रतिबंधित संगठनों के बीच की सबसे बड़ी लड़ाई के रूप में सामने आई थी। अब क्ब् टीपीएससी नक्सलियों की मौत मौत राज्य की सबसे बड़ी घटना बन गई है। इस घटना के बाद बाद दोनों संगठनों के बीच खूनी संघर्ष की लड़ाई की आशंका है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.