स्कॉलरशिप के लिए 24 परीक्षण

2018-12-22T06:00:02Z

26 जनवरी को मेरठ समेत प्रदेश में मिलेगी हजारों छात्रों को छात्रवृत्ति

Meerut: लाभार्थी को करीब 24 स्तर के परीक्षण के बाद छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति का लाभ मिलेगा तो वहीं अपात्र घोषित होने से पहले छात्र को अपनी पात्रता साबित करने का पूरा मौका भी सरकार दे रही है। समाज कल्याण निदेशालय की वेबसाइट पर छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति के ऑनलाइन आवेदनों को स्क्रूटनी चल रही है। 24 दिसंबर तक मेरठ के 57 हजार छात्रों के डाटा को जिला स्तरीय 53 अधिकारियों की टीम सत्यापित कर रही है।

छिपा नहीं सकेंगे तथ्य

जिला समाज कल्याण अधिकारी पारितोष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि निदेशालय के कड़े प्रयास के बाद छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए ऑनलाइन सिस्टम बहाल किया गया है। इस सिस्टम से न सिर्फ सिस्टम में पारदर्शिता आएगी बल्कि भ्रष्टाचार की संभावनाएं भी नहीं रहेंगी। उन्होंने बताया कि 22 अक्टूबर तक मेरठ के 45 हजार एससी/एसटी छात्रों ने शुल्क प्रतिपूर्ति और छात्रवृत्ति के लिए आवेदन किया था जबकि 17 हजार सामान्य और पिछड़ा वर्ग के छात्रों ने दस्तावेजों के साथ वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन किया था। इस डाटा की निदेशालय और एनआईसी लेवल पर 24 स्तरीय जांच हो रही है। फिलहाल डीएम के निर्देशन में गठित 53 सदस्यीय जिला एवं तहसील स्तरीय अधिकारी छात्रों के पात्रता का परीक्षण कर रहे हैं।

नहीं रही विभाग की भूमिका

पूर्व में हुए छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति घोटाले के मद्देनजर छात्रों के उत्थान के लिए संचालित छात्रवृत्ति योजना से समाज कल्याण विभाग की प्रत्यक्ष भूमिका को समाप्त कर दिया है। 53 सदस्यीय जांच अधिकारी सभी 65 हजार छात्रों का डाटा और दस्तावेजों का परीक्षण कर अपनी रिपोर्ट 24 दिसंबर तक डिजिटली लॉक कर देंगे, इसके बाद यह डाटा जिला समाज कल्याण अधिकारी के लॉगिन पर जाएगा और यहां से करेक्ट डाटा को वेरीफिकेशन मिलेगा जबकि 10 जनवरी तक सस्पेक्टेड डाटा को छात्र के लॉगिन आईडी पर भेज दिया जाएगा। छात्र संबंधित एरर को दूर कर दोबारा डाटा को अपलोड करेगा, पात्रता साबित होने पर जिला समाज कल्याण अधिकारी सस्पेक्टेड डाटा को वेरीफाई करके भुगतान के लिए निदेशालय भेज देंगे।

---

26 जनवरी को मिलेगी चेक

समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि 26 जनवरी को मेरठ समेत प्रदेश के सभी जनपदों में छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति के लाभार्थियेां को चेक दिए जाएंगे। इसके मद्देनजर एक विशाल आयोजन किसी जनप्रतिनिधि की मौजूदगी में आयोजित किया जाएगा। सीसीएस यूनीवर्सिटी के सुभाष चंद्र बोस प्रेक्षागृह में संभवत: लाभार्थियों को जुटाया जाएगा। पोस्ट मैट्रिक छात्रों को 250 से 1200 रुपए प्रतिमाह छात्रवृत्ति का प्रावधान है तो वहीं एक बार में अन्य भत्ते के तौर पर 1600 रुपए तक दिया जा रहा है। शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए शासन द्वारा पाठ्यक्रमवार निर्धारित धनराशि छात्र के माध्यम से कॉलेज को रिफंड की जा रही है।

53 अधिकारी कर रहे जांच, समाज कल्याण विभाग ने शुरू कर दी तैयारी

24 दिसंबर तक मेरठ के 57 हजार छात्रों के डाटा को सत्यापित करने में जुटी टीम

45,000 एससी/एसटी छात्रों ने शुल्क प्रतिपूर्ति और छात्रवृत्ति के लिए 22 अक्टूबर तक किया था आवेदन

17,000 सामान्य और पिछड़ा वर्ग के छात्रों ने दस्तावेजों के साथ वेबसाइट पर किया था आवेदन

65 हजार छात्रों का डाटा और दस्तावेजों का परीक्षण कर अधिकारी अपनी रिपोर्ट 24 तक करेंगे डिजिटली लॉक

10 जनवरी तक सस्पेक्टेड डाटा को छात्र के लॉगिन आईडी पर भेज दिया जाएगा।

250 से 1200 रुपए प्रतिमाह छात्रवृत्ति का प्रावधान है पोस्ट मैट्रिक छात्रों को


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.