33 नए कोर्स के साथ ही इन 22 कॉलेज को मिला ग्रीन सिग्नल

2019-04-30T11:33:20Z

एलयू में सोमवार को हुई कार्यपरिषद की बैठक में 22 नए कॉलेजों को संबद्धता दिए जाने के साथ ही 33 नए कोर्सेज को भी हरी झंडी मिल गई

- एलयू की कार्यपरिषद की बैठक में प्रो. निशीथ राय पर एफआईआर की संस्तुति

- पदोन्नति और परीक्षा पास न कर पाने वाले कर्मचारियों को अभी मिलेगा मौका

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: एलयू में सोमवार को हुई कार्यपरिषद की बैठक में 22 नए कॉलेजों को संबद्धता दिए जाने के साथ ही 33 नए कोर्सेज को भी हरी झंडी मिल गई. शैक्षिक सत्र 2019-20 के लिए तीन कॉलेजों में तीन नए कोर्स को पहली बार अस्थायी मान्यता दी गई.

बीकॉम और बीएससी को मान्यता
नवयुग कन्या महाविद्यालय में एमकॉम, लखनऊ डिग्री कॉलेज में बीएलएड, यूनिटी डिग्री कॉलेज में बीए के संचालन के लिए अस्थायी मान्यता देने का प्रस्ताव रखा गया. इस पर सहमति नहीं बनी. इसके अलावा दिव्या सिंह मेमोरियल महिला महाविद्यालय में बीए, माडर्न कॉलेज ऑफ एजूकेशन में बीएड, राम प्रसाद बिस्मिल मेमोरियल डिग्री कॉलेज में बीएड, श्री महेश प्रसाद डिग्री कॉलेज में बीएससी कृषि, सुरजन देवी अनुसूइया देवी डिग्री कॉलेज में बीकॉम, कॉलेज ऑफ इनोवेटिव मैनेजमेंट एंड साइंसेज में बीकॉम और बीएसएनवी पीजी कॉलेज में बीकॉम की स्थायी सहयुक्तता देने का प्रस्ताव बैठक में रखा गया. जिसे मंजूरी मिल गई.


 

इन्हें िमली मान्यता

- जीएसआरएम मेमोरियल- बीए, बीएससी, बीकॉम

- पं. दीन दयाल उपाध्याय राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय- एमए अर्थशास्त्र, इतिहास, समाजशास्त्र और गृहविज्ञान

-राष्ट्रीय कथक संस्थान- एमपीए

-नगर निगम डिग्री कॉलेज- बीए, बीकॉम

-लाल बहादुर शास्त्री ग‌र्ल्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट- बीकॉम


 

शैक्षिक सत्र 2019-20 के लिए

-नवयुग कन्या महाविद्यालय- एमकॉम- अस्थायी सहयुक्तता

- लखनऊ डिग्री कॉलेज- बीएलएड- अस्थायी सहयुक्तता

- यूनिटी डिग्री कॉलेज- बीए 420 सीट- अस्थायी सहयुक्तता

- रजत वीमेन कॉलेज ऑफ एजूकेशन एंड मैनेजमेंट, एमएड- अस्थायी सहयुक्तता विस्तारण

- रजत कॉलेज ऑफ एजूकेशन एंड मैनेजमेंट, एमएड- अस्थायी सहयुक्तता विस्तारण

- बलराम कृष्ण एकेडमी- बीए, बीकॉम. - अस्थायी सहयुक्तता विस्तारण

- मुमताज पीजी कॉलेज- बीकॉम.- स्थायी सहयुक्तता

- लखनऊ डिग्री कॉलेज- बीए 420 सीट.- स्थायी सहयुक्तता

- जीएसआरएम मेमोरियल- बीकॉम, बीएससी- स्थायी सहयुक्तता

- माडर्न कॉलेज ऑफ एजूकेशन- बीएड- स्थायी सहयुक्तता

- राम प्रसाद बिस्मिल मेमोरियल डिग्री कॉलेजए बीएड. स्थायी सहयुक्तता

- पं. दीन दयाल उपाध्याय राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय- एमए एमआईएच, एमए गृहविज्ञान- स्थायी सहयुक्तता

- दिव्या सिंह मेमोरियल महिला महाविद्यालय- बीए- स्थायी सहयुक्तता

- श्री महेश प्रसाद डिग्री कॉलेज- बीएससी कृषि- स्थायी सहयुक्तता

- सुरजन देवी अनुसूइया देवी डिग्री कॉलेज- बीकॉम- स्थायी सहयुक्तता

- बीएसएनवी पीजी कॉलेज- बीकॉम- स्थायी सहयुक्तता

- कॉलेज ऑफ इनोवेटिव मैनेजमेंट एंड साइंसेज- बीकॉम - स्थायी सहयुक्तता

 

कर्मचारियों को एक और चांस
एलयू टेस्ट में फेल कर्मचारियों पर कार्रवाई नहीं करेगा. यह फैसला भी कार्यपरिषद की बैठक में लिया गया. तृतीय श्रेणी कर्मचारियों को अब साल भर में अवसर दिया जायेगा और उन पर जो भी निर्णय लिया जायेगा, वह शासनादेश के अनुसार ही होगा.

 

प्रो. चौधरी को मिली राहत
समाजशास्त्र विभाग के शिक्षक प्रो. सुकान्त चौधरी के निलंबर के मामले को कार्यपरिषद निरस्त कर दिया. प्रो. सुकांत चौधरी बिना छुट्टी मंजूर कराए विदेश चले गए, इसी के तहत एलयू वीसी ने उन्हें निलंबित किया था.

 

करियर एडवांसमेंट स्कीम का फायदा
कार्यपरिषद की इस बैठक में विभिन्न विभागों में करियर एडवांसमेंट स्कीम के तहत प्रमोशन पाने वाले शिक्षकों का भी लिफाफा भी खोला गया. तकरीबन 25 शिक्षकों को इस का लाभ मिला.

एफआईआर की संस्तुति
डॉ. शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. निशीथ राय के खिलाफ लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन एफआईआर करवाएगा. यह फैसला भी कार्यपरिषद की बैठक में लिया गया. सभी ने इस पर मुहर लगा दी.


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.