3600 परिवारों ने किया पलायनसाध्वी प्राची

2019-07-08T06:00:49Z

¨हदूवादी नेता पहुंची प्रह्लाद नगर, महिलाओं से की बातचीत

पलायन पर पुलिस-प्रशासन की रिपोर्ट को बताया झूठ

Meerut। लिसाड़ी गेट क्षेत्र के प्रह्लाद नगर और उसके आसपास की कालोनियों से महिलाओं के साथ छेड़छाड़ से तंग आकर एक-दो नहीं बल्कि 3600 ¨हदू परिवारों का पलायन किया है। देश के बंटवारे के बाद प्रह्लाद नगर और आसपास 4000 हिंदुओं के परिवार थे जो आज महज 400 बचे हैं। प्रदेश की योगी सरकार को चेताते हुए साध्वी ने कहा कि पलायन पर योगी जी जनता जबाव मांग रही है। पुलिस और प्रशासनिक अफसरों को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग पलायन को नकार रहे हैं उन्हें शर्म आनी चाहिए। एक-एक घर में जाकर महिलाओं से बात की है, महिलाओं ने कहा कि बेटियों के साथ छेड़छाड़ होती है।

महिलाओं से मिली साध्वी

रविवार को साध्वी प्राची प्रह्लाद नगर के रामलीला मैदान पहुंचीं, जहां से वह पैदल मुख्य चौराहे और फिर इस्लामाबाद बॉर्डर पर स्थित पुलिस पिकेट तक गई। यहां उन्होंने 10-12 परिवारों से बातचीत की, हालात के बारे में जानकारी हासिल की तो वहीं महिलाओं से पलायन पर प्रतिक्रया ली। महिलाओं ने बताया कि शरारती तत्वों की अराजकता से परेशान होकर मकान व दुकान बेचकर लोग जा रहे हैं। साध्वी ने महिलाओं को पूरी सुरक्षा दिलाने और शरारती तत्वों पर कार्रवाई कराने का आश्वासन दिया।

यहां भी हुआ पलायन

मीडिया से बातचीत में साध्वी ने कहा कि मेरठ के हालात खराब हैं। प्रह्लाद नगर के अलावा बैंक कालोनी, पिलोखड़ी, श्यामनगर, कोतवाली क्षेत्र के दर्जन भर मोहल्ले बहुसंख्यकों से खाली हो चुके हैं। जबकि शास्त्रीनगर में सेक्टर-11, 12, 13 और 8 में भी लगातार पलायन हो रहा है। प्रह्लाद नगर में अब तक सिर्फ दो प्रतिशत ही परिवार निजी कारणों से गए हैं, 98 प्रतिशत परिवारों का पलायन हुआ है। प्रदेश की योगी सरकार नसीहत देते हुए साध्वी ने कहा कि मेरठ से पलायन को रुकवाइए, शरारतीतत्वों को उनकी भाषा में जबाव दें। जनता ने इसीलिए आपको कुर्सी पर बैठाया है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.