36 हजार फीट की ऊंचाई पर बोइंग विमान ने खाए हिचकोले 37 यात्री घायल

2019-07-12T15:06:28Z

कनाडा से ऑस्ट्रेलिया जा रही एयर कनाडा की एक फ्लाइट 36 हजार फीट की ऊंचाई पर टर्बुलेन्स झटके का शिकार हो गई। इसमें 37 यात्री घायल हो गए हैं।

ओटावा (आईएएनएस)। एयर कनाडा की एक फ्लाइट गुरुवार को एक बड़े हादसे का शिकार होते-होते बच गई। दरअसल, एयर कनाडा की फ्लाइट 'बोइंग 777-200' कनाडा के वैंकूवर से ऑस्ट्रेलिया के सिडनी जा रही थी, इसी बीच 36 हजार फीट की ऊंचाई पर टर्बुलेन्स (झटके) का शिकार हो गई। एयरलाइन्स ने बताया कि इस हिचकोले के चलते 37 यात्री घायल हो गए। एयर कनाडा के प्रवक्ता पीटर फिट्जपैट्रिक ने बताया कि 35 लोग मामूली रूप से घायल हुए हैं। बाद में आपातकालीन अधिकारियों ने घायलों की संख्या को बढाकर 37 तक कर दिया।

ब्रिटेन को ईरान की चेतावनी, कहा तुरंत रिहा करें हमारा पकड़ा गया तेल टैंकर वरना भुगतना होगा परिणाम
पायलट ने कराई फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग
फिट्जपैट्रिक ने बताया कि यह फ्लाइट 269 यात्रियों और 15 क्रू सदस्यों को लेकर जा रही थी और जब फ्लाइट तेज झटके का शिकार हुई, तब वह हवाई शहर से करीब दो घंटे पहले थी। इस घटना के बाद फ्लाइट को तुरंत होनोलुलु इंटरनेशनल एयरपोर्ट की तरफ डाइवर्ट किया गया। इस फ्लाइट में सवार एक यात्री ने कहा कि वह तेज झटके के बाद सहम गई। उसने कहा, 'जब झटका लगा, हम सभी के सिर फ्लाइट की छत से टकरा गए और सब कुछ गिर गया... लोग पूरी तरह से सहम गए।' इस घटना के बाद एयरलाइंस ने अपने बयान में कहा, 'हम यात्रियों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। पायलट ने झटके के तुरंत बाद होनोलुलु हवाईअड्डे पर फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग कराई। वहां यात्रियों के इलाज और आपातकालीन सेवा के लिए हर तरह के इंतजाम पहले से किए गए थे। घायल यात्रियों का तुरंत इलाज कराया गया।'



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.