51 जिला अस्पताल हो रहे अपडेट जनवरी से मिलेेंगी मरीजों को ये सुविधाएं

2018-12-13T15:26:38Z

राज्य में हर व्यक्ति को बेहतर चिकित्सा सुविधा देने के लिए सरकारी अस्पताल में टेली मेडिसिन व टेली रेडियोलॉजी की सुविधाओं की शुुरुआत होने वाली है।

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को बेहतर चिकित्सा सुविधा देने के लिए टेली मेडिसिन व टेली रेडियोलॉजी की सुविधाओं की शुुरुआत जनवरी से की जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि टेली मेडिसिन के लिए प्रदेश को 2 क्लस्टर में बांटा जाएगा जिसके तहत 28 जनपद कवर होंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश के अंदर 917 रेडियोलॉजिस्ट के पद सरकारी अस्पताल में हैं, लेकिन सरकारी अस्पतालों में वर्तमान में 107 ही रेडियोलॉजिस्ट हैं। ऐसे में रेडियोलाजिस्ट की कमी को टेली रेडियोलॉजी के माध्यम से पूरा किया जाएगा।

दस अस्पतालों का होगा लोकार्पण

स्वास्थ्य मंत्री ने समीक्षा बैठक में अधिकारियों से कहा कि जनवरी के तीसरे सप्ताह के अंदर ब्लड बैंक एवं यूपीएचएसएसपी के माध्यम से जिन 51 जिला अस्पतालों को अपग्रेड किया जा रहा है, उसमें से 10 अस्पतालों का लोकार्पण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा किया जाएगा। वहीं मातृ एवं शिशु अस्पताल, गोरखपुर का दिसंबर महीने के आखिरी सप्ताह अथवा जनवरी महीने के पहले सप्ताह में शुभारंभ किया जाएगा। इस अवसर पर एक कॉफी टेबल बुक भी लांच की जाएगी।
ये सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी
इस बुक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा पिछले वर्ष से लगातार जेई एवं एईएस के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए किये गए कार्यों का उल्लेख किया जाएगा। उन्होंने बताया कि टेली मेडिसिन के तहत लोगों को टेली कंसल्टेंसी और वीडियो कंसल्टेंसी के तौर पर दो तरह से सुविधायें मिलेंगी जबकि टेली रेडियोलॉजी में रेडियोलॉजिस्ट की निगरानी में एक्स-रे, सीटी स्कैन, एमआरआई की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के सभी वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

28 जिले होंगे कवर

इलाहाबाद, फतेहपुर, कौशांबी, प्रतापगढ़, हमीरपुर, चित्रकूट, कानपुर देहात, भदोही, मिर्जापुर, सोनभद्र, चंदौली, गाजीपुर, जौनपुर, वाराणसी, आजमगढ़, बलिया, मऊ, बस्ती, संत कबीरनगर, सिद्धार्थ नगर, बहराइच, बलरामपुर, गोंडा, श्रावस्ती, देवरिया, गोरखपुर, कुशीनगर तथा महाराजगंज।

पुरानी पेंशन बहाली को लेकर कर्मचारी संगठन का फूंकेंगे बिगुल, होगी बैठक


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.