योजना में अटके 8 करोड़

2019-07-10T06:00:20Z

जागृति विहार एक्सटेंशन में छह माह बाद भी नहीं हुआ आवंटन

468 प्लाट व भूखंडों के 3520 आवेदकों ने जमा किया एडवांस

Meerut। आवास विकास की सुस्ती के चलते जागृति विहार एक्सटेंशन की फ्लैट योजना में पिछले तीन साल से अपना पैसा लगा कर बैठे लोग अभी तक फ्लैट में शिफ्ट नही हो पाए हैं। ऐसे में अब छह माह पहले जागृति विहार एक्सटेंशन की प्लॉट व भूखंड योजना में भी लोगों का करोड़ो रुपया इन्वेस्ट कराने के बाद आवास विकास फिर से सुस्त हो गया है। हालत यह है कि जनवरी माह में एक्सटेंशन में आवेदन प्रक्रिया रजिस्ट्रेशन के नाम पर साढ़े तीन हजार से अधिक आवेदकों ने एडवांस जमा कर दिया, लेकिन छह माह बाद भी आवास विकास ने आवंटन प्रक्रिया की शुरुआत नहीं की है। ऐसे में लोगों का करोड़ो रुपया आवंटन के इंतजार में अधर में अटका हुआ है।

10 प्रतिशत तक एडवांस

आवास विकास द्वारा जागृति विहार एक्सटेंशन योजना संख्या 11 के सेक्टर 5 और 3 में भूखंड और आवास विकासित कर आवंटन करने की योजना बनाई गई थी। इस योजना के तहत पहले चरण में 468 आवास व भूखंडों की बिक्री के लिए गत वर्ष सितंबर माह में रजिस्ट्रेशन फार्म निकाले गए। इसके तहत आवेदकों ने 5 जनवरी तक बैंक के माध्यम से फार्म समेत भवन की कुल कीमत की 5 व 10 प्रतिशत यानि करीब 19 से 24 हजार रुपए रकम बतौर जिस्ट्रेशन फीस जमा कर अपने आवास की बुक कराई थी।

3520 आवेदन

आवास विकास की इस योजना में जागृति विहार, शास्त्रीनगर, माधवपुरम की योजनाओं की तरह रुचि दिखाते हुए आवेदकों ने इन 468 आवास व भूखंड के लिए 3520 के करीब रजिस्ट्रेशन कराए। रजिस्ट्रेशन में ही इन आवासों के लिए करीब 8 करोड़ से अधिक रुपया एडवांस जमा हो चुका है। योजना के तहत मई माह में आवंटन प्रक्रिया पूरी करने आश्वासन दिया गया था लेकिन जून माह भी बीत चुका है और विभाग आवंटन प्रक्रिया की तिथि घोषित नही कर रहा है। ऐसे में आवेदक रोजाना विभाग के चक्कर लगाते हुए आवंटन प्रक्रिया जल्द से जल्द शुरु करने की मांग कर रहे हैं।

संभवता अगस्त माह में आवंटन प्रक्रिया को पूरा कर दिया जाएगा। इसके लिए मुख्यालय को रिपोर्ट भेजी जा चुकी है। जल्द प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा।

नरेश बाबू, पूर्व संपत्ति अधिकारी

348 आवासों का आवास विकास द्वारा निर्माण कर बेचा जाएगा।

2 प्रकार के आवासों का किया जाना था निर्माण

144.50 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में 75 वर्ग मीटर कारपेट एरिया

24.77 लाख रुपए थी इसकी कीमत

128 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में 70 वर्ग कारपेट एरिया

19.84 लाख रुपए निर्धारित की गई थी इसकी कीमत

3520 आवेदकों ने 468 आवास व भूखंड के लिए कराए थे रजिस्ट्रेशन

10 फीसदी एडवांस देकर लोगों ने कराया था रजिस्ट्रेशन

8 करोड़ रुपए आवास विकास के पास जमा हुए बतौर एडवांस

6 फीसदी सालाना की दर से 8 करोड़ पर 6 माह में आवास विकास को मिले 24 लाख रुपए


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.