UP : वांटेड क्रिमिनल पन्ना यादव बहराइच एनकाउंटर में मारा गया 50,000 रुपये था इनाम

Updated Date: Fri, 10 Jul 2020 10:43 AM (IST)

उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स एसटीएफ और बहराइच पुलिस ने शुक्रवार को 50 हजार का इनामी पन्ना यादव को एक मुठभेड़ में मार गिराया है। उसके खिलाफ 3 दर्जन से अधिक लूट हत्या डकैती एवं गैंगस्टर के मामले दर्ज थे। वहीं यूपी में हुई एक अन्य मुठभेड़ में 5 लाख का इनामी हिस्ट्रीशीटर मोस्ट वांटेड विकास दुबे मारा गया है।

लखनऊ (पीटीआई)। उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को बहराइच जिले में हुई एक मुठभेड़ में 50,000 रुपये का इनामी अपराधी मारा गया। एडीजी (कानून और व्यवस्था) प्रशांत कुमार का कहना है कि पन्ना यादव उर्फ सुमन यादव को हरदी क्षेत्र के अहिरनपुरवा गांव में एसटीएफ और स्थानीय पुलिस की एक टीम ने घेर लिया था। अपने को चाैतरफा घिरा देख पन्ना यादव ने फायरिंग तो पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। इस दाैरान वह मुठभेड़ में मारा गया। उन्होंने कहा कि पन्ना यादव हत्या, लूट, डकैती और उस पर गैंगस्टर एक्ट सहित तीन दर्जन से अधिक मामलों में वांछित था। उसने कई जिलों में आतंक था। पन्ना यादव के खिलाफ महराजगंज, गोरखपुर, बाराबंकी, आजमगढ़ और लखीमपुर जिलों में ये मामले दर्ज किए गए थे। वह एक बार गोरखपुर जेल से भाग गया और एक जेलर की भी पिटाई की थी।

A notorious criminal, Panna Yadav, was injured in an encounter with Special Task Force at Ahiranpurwa village in Hardi area of Bahraich last night. He was rushed to district hospital where he died. He was a resident of Gorakhpur & carrying a reward of Rs 50,000: SP Vipin Mishra pic.twitter.com/b9UEWcRIXF

— ANI UP (@ANINewsUP) July 10, 2020


5 लाख का इनामी हिस्ट्रीशीटर मोस्ट वांटेड विकास दुबे मारा गया
वहीं एक और अपराधी आज पुलिस मुठभेड़ में ढेर हो गया है। यूपी के चर्चित कानपुर एनकाउंटर के मुख्य आरोपी 5 लाख के इनामी हिस्ट्रीशीटर मोस्ट वांटेड विकास दुबे को स्पेशल टास्क फोर्स उज्जैन से कानपुर लेकर आ रही थी, तभी कानपुर नगर भौंती में पुलिस की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हुई। इस दाैरान उसमें बैठे अभियुक्त व पुलिसकर्मी घायल हो गए, तभी माैका देखते ही विकास दुबे ने घायल पुलिस कर्मी की पिस्टल छीन कर भागने की कोशिश की। पुलिस टीम ने विकास दुबे का पीछा किया तो वह फायरिंग करने लगा। इस दाैरान पुलिस की ओर से भी जवाबी फायरिंग की गई। इस तरह से विकास दुबे मुठभेड़ में मारा गया। 60 मामलों में अपराधी गैंगस्टर विकास दुबे और उसके लोगों ने 3 जुलाई को उसे पकड़ने चाैबेपुर के बिकरू गांव गई पुलिस टीम पर हमला कर आठ पुलिस कर्मियों की हत्या कर दी थी।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.