बिन आधार नो आहार

2018-10-03T06:00:14Z

-दिसंबर से आंगनबाड़ी केंद्रों पर बनने लगेगा आधार कार्ड

-योजना का लाभ लेने के लिए जच्चा-बच्चा को कराना होगा पंजीकरण

ALLAHABAD: आने वाले दिनों में बिना आधार कार्ड बच्चों और महिलाओं को पुष्टाहार नहीं मिलेगा। शासन ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। विभाग की सरकारी योजनाओं के संचालन में पारदर्शिता लाने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है। इसके तहत आंगनबाड़ी केंद्रों पर आधार बनाने की सुविधा उपलब्ध होगी और पंजीकरण होने के बाद ही लाभार्थी को लाभांवित किया जाएगा।

मेंटेन नहीं करना होगा रजिस्टर

फिलहाल आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों और महिलाओं को पुष्टाहार सीधे दिया जाता है। इसके लिए कार्यकत्रियों को रजिस्टर मेंटेन उसमें हिसाब-किताब रखना पड़ता है। लेकिन आने वाले समय में ऐसा नहीं होगा। बिना आधार कार्ड बनवाए उनको लाभ नहीं मिलेगा। गौरतलब है कि अभी बच्चों को हॉट कुक और पोषाहार योजना के तहत पोषक आहार दिए जा रहे हैं। इसके लिए जो भी लाभार्थी आएंगे उनका आधार पंजीकरण चेक किया जाएगा।

दिसंबर में लग जाएंगी मशीनें

अभी तक आधार कार्ड एनजीओ के जरिए बनाए जा रहे हैं। दिसंबर से तकरीबन 30 फीसदी आंगनबाड़ी केंद्रों पर आधार की मशीनें लग जाएंगी। फिर यहां आने वाले लाभार्थियों का पंजीकरण किया जाएगा। जिन बच्चों का आधार पहले परिषदीय स्कूलों में बन गया होगा उससे आंगनबाड़ी केंद्र के आधार का मिलान किया जाएगा। दोनों जगह होने पर बच्चे का नाम किसी एक विभाग से काटा जाएगा।

बंद होगा फर्जीवाड़ा

ऐसा कदम उठाने के बाद आंगनबाड़ी योजनाओं की आड़ में होने वाले पुष्टाहार का फर्जीवाड़ा बंद हो जाएगा। जिन लाभार्थियों को योजना का लाभ दिया जाएगा उसका आधार नंबर दर्ज हो जाएगा। इससे विभाग को भी यथास्थिति की जानकारी हो जाएगी। अभी भी बड़ी संख्या में बच्चों के आधार कार्ड नहीं बन सके हैं और वह योजना का लाभ ले रहे हैं। जानकारी के मुताबिक जिले में वर्तमान में कुल 4499 आंगनबाड़ी केंद्र मौजूद हैं। इसमें से तीस फीसदी केंद्रों पर आधार बनाने की सुविधा उपलब्ध होगी।

वर्जन

शासन का आदेश आ गया है। जल्द ही केंद्रों पर मशीन लगा दी जाएंगी। इसके बाद केंद्रों पर आधार कार्ड बनाए जाएंगे। बिना आधार लाभार्थियों को योजना का लाभ नही मिलेगा।

-मनोज राव, जिला कार्यक्रम अधिकारी इलाहाबाद


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.