आग का शोला बनने से बची स्कूल बस बाल बाल बचे बच्चे

2019-07-12T06:00:16Z

रांची: शहर में दौड़ रही स्कूल बसों में सवार स्टूडेंट्स की जान को लेकर बराबर खतरा बना हुआ है। इनमें बच्चों की सुरक्षा के लिए कोई इंतजाम नहीं है। इस वजह से बुधवार को एक और स्कूल बस खतरनाक हादसे के मुहाने पर पहुंच गई। रांची के सुरेंद्रनाथ स्कूल की चलती बस से अचानक धुआं निकलने लगा। बस में अचानक उभरे इस खतरे से उसमें सवार स्टूडेंट्स अपनी जान बचाने को शोर मचाने लगे। तभी बस को ऐन वक्त पर सड़क किनारे रोककर बच्चों को उतारा गया। शुक्र था कि बड़ा हादसा नहीं हुआ वरना कई बच्चों की जान पर आफत आ सकती थी। इस बीच सूचना मिलते ही लालपुर इंस्पेक्टर अरविंद कुमार सिंह मौके पर पहुंचे और बच्चों को दूसरी बस से उनके स्टॉपेज तक छोड़ा गया। वहीं स्कूल बस में सुरक्षा की अनदेखी के चलते घटी इस घटना से स्टूडेंट्स में देर तक डर समाया रहा।

घबरा उठे बच्चे

दुर्घटना होने से बची बस बच्चों को लेकर करमटोली से रातू रोड की ओर जा रही थी। उसी दौरान रांची एसएसपी आवास के पास बस की बैटरी बॉक्स के पास से धुआं निकलना शुरू हुआ। इससे बच्चे घबरा गए। धुआं निकलता देख बस को चालक ने सड़क किनारे लगा दिया। इस दौरान वहां देर तक अफरातफरी रही। इस बीच बैटरी बॉक्स में लगी आग इंजन बंद करने के बाद स्वत: बुझ गई। इससे कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ। लेकिन बैटरी बॉक्स और स्टेय¨रग के आसपास की तार जल गई। अग्निशमन विभाग के दमकल वाहन को बुलाया गया। हालांकि धुआं खत्म होने से आग बुझाने की नौबत नहीं आई।

बस में नहीं था फायर सेफ्टी सिस्टम

सुरेंद्रनाथ स्कूल की जिस बस में आग लगी उसमें पोर्टेबल फायर सेफ्टी सिस्टम नहीं था। अगर बस में भीषण आग लग जाती तो बड़ा नुकसान हो सकता था। राजधानी में जितने भी स्कूल बसें चल रहीं हैं उनमें से अधिकतर में फायर सेफ्टी सिस्टम नहीं लगा हुआ है। स्कूल प्रबंधन की ओर से इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जाता है। इस तरह की घटना होने के बाद भी स्कूल प्रबंधन की ओर से बसों में सेफ्टी को लेकर ध्यान नहीं दिया जाता है। जिला प्रशासन भी इसपर एक्शन नहीं लेता।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.