स्टेशन की बदहाली देख भड़के एडीआरएम

2015-10-11T07:40:07Z

-अधिकारियों को लगाई फटकार

-असुविधाओं को जल्द पूरा करने का दिया निर्देश

तक, स्टेशन से बाहर निकलकर टिकट काउंटर की तरफ जाते एडीआरएम, स्टेशन अधीक्षक से पूछताछ करते एडीआरएम, एसएम कक्ष में रजिस्टर का मिलाने करते व पंखों की सफाई करता सफाईकर्मी

pratapgarh@inext.co.in

PRATAPGARH (10 Oct) : जंक्शन रेलवे स्टेशन पर शनिवार को एडीआरएम के निरीक्षण में खामियां मिलने पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों को फटकार लगाई। एडीआरएम ने खामियों को जल्द दुरुस्त कराने का निर्देश दिया। लगभग आधे घंटे के निरीक्षण में स्टेशन परिसर में हड़कंप मचा रहा।

पहले गए चिलबिला

शनिवार की सुबह से रेलवे जंक्शन का चमकाया जा रहा था। स्टेशन परिसर में फैली गंदगी को बहुत तेजी से हटाया जा रहा था। स्टेशन मास्टर से लेकर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी तक ड्रेस में नजर आ रहे थे। हर किसी के चेहरे पर शिकन दिखाई दे रही थी। लगभग 12 बजे एडीआरएम एमएन ओझा चिलबिला स्टेशन पहुंचे और वहां पर उन्होंने बारीकी से निरीक्षण किया। इसके बाद वह प्रतापगढ़ स्टेशन पर पहुंचे। स्टेशन पर उतरते ही एडीआरएम अपनी जांच टीम के साथ रेलवे काउंटर पर गए। रेलवे काउंटर पर मिली कमियों को जल्द दुरुस्त कराने का निर्देश संबंधित अधिकारी को दिया। इसके बाद वह प्रतीक्षालय में गए जहां पर गंदगी देख भड़क उठे। यहां से निकलकर स्टेशन मास्टर के कक्ष में गए और रजिस्टर का मिलान करने लगे। कक्ष में स्टेशन मास्टर केएन शर्मा ने पानी की समस्या बताई। उन्होंने बताया कि कालोनी व स्टेशन की सप्लाई एक ही है जब कालोनी में पानी जाता है तो स्टेशन पर पानी की समस्या उभर कर आती है। इस पर एडीआरएम ने नोटिस करने को अपने साथ आए अधिकारी को कहा। डीजल लाबी में ड्राइवर के साइन आउट व इन में गड़बडि़यां मिलने पर उन्होंने अधिकारियों को फटकार लगाई। रेलवे स्टेशन पर लगभग आधे घंटे तक एडीआरएम एमएन ओझा ने निरीक्षण किया और इसके बाद वे ट्रेन से जंघई के लिए रवाना हो गए। इस मौके पर उनके साथ वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक (सामान्य) शेर सिंह वरिष्ठ मंडल संरक्षा अधिकारी एके यादव, वरिष्ठ मंडल अधीक्षण अभियंता डीके सिंह, मंडल रेल इंजीनियर एके गोयल, संरक्षण इंस्पेक्टर सत्यप्रकाश त्रिपाठी पीसीआई एके उपाध्याय, सीएमआई आरएस चौरसिया, सुधीर कुमार आदि मौजूद रहे।

काऊकैचर बनाने का निर्देश

शनिवार को जंक्शन का निरीक्षण करने पहुंचे एडीआरएम महेंद्र नाथ ओझा ने वाहन स्टैंड पर बाउंड्रीवाल व आरक्षण काउंटर के पास आवारा पशुओं की आवक रोकने को काऊ कैचर बनाने का निर्देश दिया। प्लेटफार्म नंबर एक पर खराब पड़ी पानी की टंकी को ध्वस्त कराने का निर्देश उन्होंने दिया। टूटे यात्री शेड को दुरुस्त कराने की बात कही।

सफे दी से छिपाई गंदगी

एडीआरएम महेंद्रनाथ ओझा का प्रतापगढ़ स्टेशन दौरा बीती शाम को ही निर्धारित हो गया था। इसके बाद स्टेशन परिसर में फैली को आनन-फानन में साफ कराया गया। दीवार के किनारे व नालों के आसपास फैली गंदगी को छिपाने के लिए स्टेशन प्रशासन ने चूने की सफेदी का छिड़काव जगह-जगह पर किया गया था। वहीं स्टेशन पर पंखे व बिजली भी नहीं चल रहे थे जिस पर आने की सूचना पाकर परिसर में लगे पंखे को जहां ठीक कराया गया वहीं धूल खा रहे पंखों को मजदूरों को लगाकर चमकाया गया।

रेलयात्रियों से ली जानकारी

एडीआरएम महेंद्रनाथ ओझा निरीक्षण के पश्चात जब ट्रेन की ओर वापस लौटने लगे तो अचानक वह यात्रियों व मीडियाकर्मियों के पास पहुंच गए। उन्होंने जब रेलवे जंक्शन पर सुविधाओं के बारें में यात्रियों से पूछा तो उन्हें बताया गया कि स्टेशन पर यात्रियों कोई सुविधा नहीं मिलती। स्टेशन के बाहर बने शौचालय का कार्य अधूरा पड़ा है जिसका खामियाजा यात्रियों को भुगतनी पड़ती है। ऐसे में यात्रियों को प्लेटफार्म, वेटिंग रूम व खड़ी ट्रेनों पर शौच करना पड़ता है जिससे स्टेशन पर गंदगी फैलती है। इसके साथ ही स्टेशन टिकटों में चल रही दलाली, प्लेटफार्म बढ़ाना, ट्रेनों की धुलाई, स्टेशन पर अंधेरा रहना जैसी आदि शिकायतों की जानकारी उन्हें दी गई।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.