सीएम ने मंत्री स्वाति सिंह को तलब कर जताई गहरी नाराजगी 24 घंटे के भीतर आएगी वायरल ऑडियो के जांच की रिपोर्ट

2019-11-17T11:50:35Z

सीओ कैंट को अंसल बिल्डर्स के खिलाफ दर्ज एफआईआर खत्म करने का निर्देश दिया था। सीएम ने ऑडियो लीक होने की जांच रिपोर्ट पर तलब की है। वहीं सीओ पर गाज भी गिर सकती है

लखनऊ (ब्यूरो): सीओ कैंट बीनू सिंह को दागी अंसल बिल्डर के खिलाफ दर्ज एफआईआर खत्म करने का निर्देश देकर किरकिरी कराने वाली मंत्री स्वाति सिंह को शनिवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने तलब किया और उनकी इस हरकत पर सख्त नाराजगी जताई। इतना ही नहीं, सीएम ने डीजीपी से ऑडियो क्लिप लीक होने के मामले की जांच रिपोर्ट तलब की है। जिसके बाद डीजीपी ने एसएसपी को 24 घंटे के भीतर जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया है। माना जा रहा है कि जांच रिपोर्ट मिलने के बाद ऑडियो क्लिप वायरल कर सरकार की किरकिरी कराने के आरोप में सीओ बीनू सिंह पर गाज गिर सकती है।
यह था मामला

शुक्रवार को सोशल मीडिया में मंत्री स्वाति सिंह और सीओ कैंट बीनू सिंह की ऑडियो क्लिप वायरल हुई। इस ऑडियो क्लिप में मंत्री स्वाति सिंह थाना पीजीआई में अंसल्स बिल्डर्स के खिलाफ दर्ज एफआईआर पर सीओ से नाराजगी जताती सुनाई पड़ रही हैं। इतना ही नहीं, क्लिप में मंत्री स्वाति ने कहा कि मामला सीएम के संज्ञान में है और 'ऊपर' से अंसल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने पर रोक है। उन्होंने दर्ज एफआईआर को खत्म करने को कहा साथ ही यह भी कहा कि अगर काम करना है तो साथ आकर बैठिये। सोशल मीडिया पर यह ऑडियो क्लिप वायरल होने के बाद दागी बिल्डर अंसल की पैरवी करने को लेकर मंत्री स्वाति सिंह की खूब किरकिरी हुई। साथ ही उनके बयान के बाद सरकार भी कटघरे में आ गई।
एसएसपी को सौंपी जांच
दागी बिल्डर को बचाने को लेकर हो रही सरकार की फजीहत से नाराज सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार सुबह मंत्री स्वाति सिंह को अपने सरकारी आवास 5 कालिदास मार्ग पर तलब किया। सूत्रों के मुताबिक, सीएम योगी ने मंत्री स्वाति से पूरे प्रकरण की जानकारी लेने के साथ ही उनकी इस हरकत पर सख्त नाराजगी जताई। बताया जाता है कि इस दौरान मंत्री स्वाति ने खुद को पाक साफ बताने के लिये दलीलें दीं लेकिन, सीएम उनसे संतुष्ट नहीं हुए। घटनाक्रम से नाराज सीएम योगी ने डीजीपी ओपी सिंह को  पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट तलब की। जिसके बाद डीजीपी ने एसएसपी कलानिधि नैथानी को निर्देश दिया कि ऑडियो क्लिप लीक करने के मामले की जांच 24 घंटे में पूरी कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें।
वर्जन...
सीएम के निर्देश पर पूरे मामले की जांच एसएसपी लखनऊ को सौंपी गई है। एसएसपी की रिपोर्ट से क्लियर होगा कि घटनाक्रम की क्या पृष्ठभूमि रही और ऑडियो कैसे लीक हुआ। देखेंगे इसमें क्या कार्रवाई बनती है।
- ओपी सिंह, डीजीपी
lucknow@inext.co.in


Posted By: Vandana Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.