आगरा एक्सप्रेस वे की सिक्योरिटी एएसपी अफसरों के जिम्मे होगी

2019-07-15T09:58:39Z

लखनऊआगरा एक्सप्रेसवे पर बढ़ते सड़क हादसों के मद्देनजर यूपीडा एक्शन में आ गया है।

- बढ़ते सड़क हादसों के मद्देनजर यूपीडा ने प्रस्ताव बनाकर गृह विभाग को भेजा
- दो रिटायर्ड डिप्टी एसपी की मुख्य सुरक्षा अधिकारी के पद पर होगी तैनाती

फैक्ट फाइल
- 24 पुलिस चौकियां भी जल्द खोली जाएंगी
- 10 हाइवे पेट्रोलिंग वाहनों को बढ़ाया जाएगा
- 15 किलोमीटर पर डेम्पनर लगाने की भी योजना
pankaj.awasthi@inext.co.in
LUCKNOW : सीएम की सख्ती के बाद यूपीडा ने एक्सप्रेसवे की सुरक्षा को लेकर खास रणनीति तैयार की है। इसके तहत अब एक्सप्रेसवे की सुरक्षा का जिम्मा एडिशनल एसपी स्तर के अधिकारियों के जिम्मे होगा। साथ ही एक्सप्रेसवे पर यूपीडा की ओर से दो मुख्य सुरक्षा अधिकारियों की भी तैनाती होगी। इसके अलावा एक्सप्रेसवे पर 24 पुलिस चौकियों व आउट पोस्ट्स की स्थापना का काम भी जल्द पूरा किया जाएगा।

गृह विभाग को भेजा प्रस्ताव

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। बीते दिनों ताबड़तोड़ हादसों और उनमें हुई मौतों ने प्रदेश सरकार की भी चिंता को बढ़ा दिया है। जिसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक्सप्रेस वे पर सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद करने और वाहनों की स्पीड को कंट्रोल करने के निर्देश दिये थे। इसी क्रम में यूपीडा ने अब सुरक्षा व्यवस्था को लेकर खास रणनीति बनाई है। इसके तहत अब पूरे लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे की सुरक्षा का जिम्मा एडिशनल एसपी रैंक के अफसरों को देने का निर्णय किया है। हालांकि, अभी इन अफसरों की संख्या का खुलासा नहीं हो सका है। इसके लिये प्रस्ताव तैयार कर गृह विभाग को भेजा गया है। बताया जा रहा है कि शासन से मंजूरी मिलते ही एडिशनल एसपी अफसरों की एक्सप्रेसवे पर तैनाती की जाएगी।
संविदा पर रखे जाएंगे दो मुख्य सुरक्षाधिकारी
यूपी पुलिस के एडिशनल एसपी के अलावा यूपीडा ख़ुद भी दो मुख्य सुरक्षा अधिकारी तैनात करेगा। यह मुख्य सुरक्षा अधिकारी यूपी पुलिस की डिप्टी एसपी रैंक से रिटायर्ड अधिकारी होंगे। यूपीडा इन्हें संविदा पर रखेगा और इन्हें रिटायरमेंट के वक्त मिलने वाली तनख्वाह पर रखा जाएगा। इसके लिये यूपीडा ने विज्ञापन भी जारी कर दिया है। इसके अलावा एक्सप्रेस वे पर पेट्रोलिंग बढ़ाने के लिये 10 हाइवे पेट्रोलिंग वाहनों को बढ़ाया जाएगा। हर 15 किलोमीटर पर डेम्पनर लगाने की भी योजना है। एक्सप्रेस वे के किनारे लगी फेंसिंग को काटकर बने अवैध ढाबों को लोकल पुलिस की मदद से हटाने के निर्देश दिये गए हैं।

अस्पतालों से होगा एग्रीमेंट

एक्सप्रेस वे पर हादसों की सूरत में घायलों को तुरंत चिकित्सा मिल सके इसके लिये एक्सप्रेस वे के करीब पडऩे वाले अस्पतालों व मेडिकल कॉलेजों से यूपीडा एग्रीमेंट करेगा। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों सड़क सुरक्षा की समीक्षा बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने इसे लेकर आदेश दिया था। इसके अलावा एक्सप्रेस वे पर वाहनों के ड्राइवर्स शराब पीकर ड्राइविंग न करें, इसके लिये लोकल पुलिस अलग-अलग जगहों पर ब्रेथ एनलाइजर से जांच करेगी।
रोडवेज ड्राइवर्स के लिये रेस्टरूम
बीते दिनों यूपी रोडवेज की जनरथ बस हादसे का शिकार हुई थी। जिसमें 29 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था। शुरुआती जांच में हादसे की वजह बस के ड्राइवर को नींद आना बताया गया। इससे पहले भी बस हादसों की वजह ड्राइवर को नींद आना पाया गया था। इसको देखते हुए यूपी रोडवेज के साथ मिलकर वे साइड एमेनिटीज में ड्राइवर्स के लिये रेस्ट रूम बनाने की तैयारी है। यह रेस्ट रूम बन जाने पर किसी भी ड्राइवर को थकान महसूस होने पर वह आराम कर सकेगा।

बढ़ता जा रहा मौतों का आंकड़ा

यूपी पुलिस के आंकड़ों पर गौर करें तो पता चलता है कि लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे की शुरुआत 23 दिसंबर 2016 से दिसंबर 2017 तक 653 हादसे हुए और उसमें 66 लोगों की मौत हुई। वहीं, जनवरी 2018 से दिसंबर 2018 के बीच 1373 सड़क दुर्घटनाएं हुईं और उनमें 125 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। वहीं, जनवरी 2019 से 30 जून 2019 के बीच 219 सड़क हादसे हो चुके हैं जिसमें 39 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। इस तरह महज 30 महीनों की मियाद में 230 लोग अब तक अपनी जान गवां चुके हैं।
तीसरी आंख से लगेगी एक्सप्रेस वे पर हादसों पर लगाम
अब तक के बड़े हादसे

21 अप्रैल 2019: मैनपुरी में दिल्ली से वाराणसी जा रही प्राइवेट टूरिस्ट बस और ट्रक की भिड़ंत, 7 मरे
11 अप्रैल 2019: आगरा में चलते ट्रक में पीछे से अर्टिगा कार टकराने से आठ लोगों की मौत
11 जुलाई 2018: कन्नौज के तिर्वा क्षेत्र में श्रद्धालुओं से भरी बोलेरो-ट्रक से भिड़ी, 9 मरे
16 जून 2018: उन्नाव के औरास में तेजरफ्तार कार डिवाइडर से टकराकर पलटी, मां-बेटे समेत 3 मरे
11 जून 2018: कन्नौज के तालग्राम में बसे से नीचे उतरे छात्रों को रोडवेज बस ने रौंदा, 7 मरे
6 अप्रैल 2018: कन्नौज के सौरिख में तेजरफ्तार इनोवा का टायर फटा, 3 मरे
29 दिसंबर 2017: लखनऊ के काकोरी में तेजरफ्तार ट्रक से भिड़ी दो कारें, 6 मरे
5 नवंबर 2017: कन्नौज के सौरिख में तेजरफ्तार कार में हादसे के दौरान आग लगी, 6 लोग जिंदा जले
तीन एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरेंगे इलेक्ट्रिक व्हीकल
दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्र

काकोरी, लखनऊ
औरास, उन्नाव
बांगरमऊ, उन्नाव
तिर्वा, कन्नौज
तालग्राम, कन्नौज
सौरिख, कन्नौज
करहल, मैनपुरी
लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे
- लंबाई : 302
- लागत :13,200 करोड़ रुपये
- समय : 22 माह में निर्माण कार्य हुआ पूरा



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.