अवैध आरओ प्लांट संचालकों पर शुरू हुई कार्रवाई

2018-07-23T06:00:24Z

आई इम्पैक्ट

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट में प्रुमखता से खबर छपने के बाद हरकत में आया जलकल विभाग

कुछ एरिया में आरओ प्लांट संचालकों को भेजा नोटिस, अन्य एरिया में भी कार्रवाई की तैयारी

ALLAHABAD: दैनिक जागरण आईनेक्स्ट की पहल पर जलकल विभाग ने अवैध तरीके से चल रहे आरओ प्लांट के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। शिवकुटी एरिया में 21 आरओ प्लांट संचालकों को नोटिस भेजा गया है। जीएम जलकल विभाग का कहना है कि शहर के अन्य मोहल्लों में भी अवैध तरीके से संचालित आरओ प्लांट संचालकों की लिस्ट तैयार कर कार्रवाई की जाएगी।

सदन की बैठक में उठा था मुद्दा

14 जुलाई को नगर निगम सदन में पानी की बर्बादी के साथ ही कालाबाजारी का मुद्दा जबर्दस्त तरीके से उठाया गया था। पार्षदों ने कहा था कि एक तरफ जहां कनेक्शन लेने वालों को पानी नहीं मिल रहा है, वहीं आरओ प्लांट संचालकों द्वारा अवैध तरीके से कनेक्शन लेकर पब्लिक का पानी खींच लिया जा रहा है। इसकी वजह से लोग पानी के लिए परेशान हैं। इसके बाद सदन में तत्काल आरओ प्लांट बंद कराने का प्रस्ताव पास हुआ था। लेकिन सदन के संकल्प को निगम एडमिनिस्ट्रेशन भूल गया। दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने जब इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए शहर में संचालित आरओ प्लांटों का सच उजागर किया तो जलकल विभाग हरकत में आया। आनन-फानन में शनिवार को शिवकुटी एरिया में संचालित 21 आरओ प्लांटों को नोटिस भेजा गया। नोटिस मिलने के बाद कॉमर्शियल कनेक्शन लेने के लिए एक सप्ताह का समय दिया गया है। कहा गया है कि एक सप्ताह के अंदर अगर आरओ प्लांट का संचालन बंद कर कनेक्शन नहीं लिया गया तो कार्रवाई की जाएगी।

21 प्लांट संचालकों को शिवकुटी एरिया में भेजा गया नोटिस

14

जुलाई को नगर निगम सदन में पानी की बर्बादी पर पार्षदों ने उठाया था मुद्दा

27

अवैध आरओ प्लांट हैं औसत शहर के हर वार्ड में

80

है इलाहाबाद नगर निगम के वार्डो की संख्या

30

रुपये वसूलते हैं 20 लीटर के आरओ केन का

750

केन औसत सप्लाई है प्रत्येक आरओ प्लांट की

22000

रुपये पर डे का बिजनेस है अवैध आरओ प्लांट का

05

रुपये प्रति केन मिलता है सप्लाई पहुंचाने वाले वेंडर्स को

01

रुपये न जीएसटी पे करते हैं और न ही कमर्शियल वाटर टैक्स

शिवकुटी एरिया के आरओ प्लांट संचालकों को नोटिस भेजा गया है। शहर के अन्य इलाकों में भी इनकी पहचान की जा रही है, फिर नोटिस भेजने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

राधेश्याम सक्सेना

जीएम, जलकल, इलाहाबाद नगर निगम

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.