हिटलर को औरत बनाने की थी साजिश!

2011-08-17T13:39:11Z

हिटलर के भोजन करने के पूर्व उसके टेस्टर उसे चखते थे ताकि पता चल सके कि कहीं भोजन में कोई जहर तो नहीं मिलाया गया है मगर एस्ट्रोजेन की मिलावट को पकडऩा संभव नहीं था

जर्मनी के तानाशाह एडोल्फ हिटलर की आक्रमकता को कम करने के लिए उसके खाने में फीमेल सेक्स हार्मोन मिलाने की साजिश रची गई थी. यह साजिश सेकेंड वल्र्ड वॉर के दौरान ब्रिटिश जासूसों ने रची थी. ऐसे करके वे सख्त हिटलर के नेचर को महिलाओं की तरह सॉफ्ट करना चाहते थे. हालांकि वह इसमें कामयाब नहीं हुए.

बहन की तरह बन जाता
इस राज का खुलासा ‘सीक्रेट वेपंस: टेक्नोलॉजी, साइंस एंड द रेस टु विन द वल्र्ड वॉर 2’ नामक एक बुक में किया गया है. इस बुकके राइटर कार्डिफ यूनिवर्सिटी के प्रो. ब्रायन फोर्ड हैं. उन्होंने लिखा है कि जर्मनी के खिलाफ लडऩे वाले देश हिटलर के भोजन में महिला के हार्मोन एस्ट्रोजन की डोज मिलाना चाहते थे. वे हिटलर को उनकी बहन पॉला वूल्फ की तरह नरम स्वभाव का बनाना चाहते थे.

Tasters भी नहीं पकड़ सकते थे

फोर्ड के अनुसार एस्ट्रोजेन का चयन इसलिए किया गया क्योंकि यह स्वादहीन होता है और इसका असर काफी धीमा होता है. इसे भोजन में मिलाने केबावजूद हिटलर के टेस्टर नहीं पकड़ सकते थे.

गौरतलब है कि हिटलर के भोजन करने के पूर्व उसके टेस्टर उसे चखते थे ताकि पता चल सके कि कहीं भोजन में कोई जहर तो नहीं मिलाया गया है. मगर एस्ट्रोजेन की मिलावट को पकडऩा संभव नहीं था. इसका असर तो महीनों बाद दिखने वाला था. डेली मेल ने फोर्ड के हवाले से लिखा है कि ब्रिटेन ने इस योजना पर गंभीरता से
विचार किया था और इस काम को अंजाम देने के लिए ब्रिटिश जासूसों ने सारी तैयारी कर ली थी.



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.