दून में 26 शराब की दुकानों के लिए 116 उम्मीदवार

2019-06-29T06:00:15Z

- पूरे स्टेट में 234 शराब की दुकानों की लाटरी आवंटन प्रक्रिया आज

- दोपहर दो बजे तक हो जाएगा सूबे में सभी शराब की दुकानों का आवंटन

- 619 दुकानों में से 234 दुकानें तीन माह से नहीं हो पाई थी आवंटित

DEHRADUN: शराब की दुकानों के आवंटन में आबकारी विभाग के तीन महीने तक पसीने छूटे। आखिरकार जब कैबिनेट ने स्टेट में शेष रह गई दुकानों के लिए लाटरी के जरिए आवंटन की प्रक्रिया पर मुहर लगाई तो अब खरीदारों की भीड़ लग गई। स्थिति यह है कि दून में एक दुकान के लिए चार से अधिक उम्मीदवार लाइन में हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अगर सरकार इस प्रक्रिया को पहले ही अपना लेती तो विभाग को 35 प्रतिशत के रेवन्यू का घाटा नहीं उठाना पड़ता।

कैबिनेट की मुहर के बाद लाटरी प्रकि्रया शुरू

वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए सूबे में सरकार ने ई-टेडरिंग के जरिए शराब की दुकानों के आवंटन की प्रक्रिया शुरू की, जिसका रिजल्ट पॉजीटिव नहीं रहा। इसके बाद पहले आओ, पहले पाओ की प्रक्रिया भी शुरू की गई, लेकिन 619 दुकानों में से 234 दुकानें शेष रह गई। तमाम कोशिशों के बावजूद शराब की दुकानों के आवंटन में विभाग के पसीने छूट गए। आखिरकार सरकार ने शराब की दुकानों के आवंटन के लिए लाटरी प्रक्रिया अपनाने पर अपनी मुहर लगाई। हाल ही में कैबिनेट ने भी इस व्यवस्था पर सहमति जताई। लाटरी के लिए 234 दुकानों के आवंटन के आवेदन की आखिरी तारीख 27 जून व लाटरी की तिथि 29 जून निर्धारित की गई। आज पूरे स्टेट की 234 दुकानों के आवंटन के लिए राज्यभर में लाटरी प्रक्रिया अपनाई जा रही है। बताया गया है कि दून में 21 देशी व 5 अंग्रेजी दुकानों को मिलाकर कुल 26 दुकानों का सैटरडे को आवंटन होना है। जिला आबकारी अधिकारी मनोज उपाध्याय ने बताया कि 21 देशी दुकानों के लिए 51 और पांच अंग्रेजी दुकानों के लिए 65 आवेदन आए हैं। इन सभी दुकानों के लिए सुबह 10 बजे से डीएम ऑफिस सभागार में लाटरी प्रक्रिया शुरू की जाएगी। अंग्रेजी दुकानों में शास्त्रीनगर, आईएसबीटी, मसूरी लाइब्रेरी व राजपुर-दो शामिल हैं।

नैनीताल में अब भी 7 दुकानों के उम्मीदवार नहीं

नैनीताल जिले में लाटरी व्यवस्था शुरू करने के बाद भी खरीदार नहीं आ रहे हैं। जिला आबकारी अधिकारी राजीव चौहान के अनुसार 14 दुकानों में से लाटरी के लिए केवल सात ही उम्मीदवार सामने आए हैं। इनमें दो अंग्रेजी व 5 देशी की दुकानें शामिल हैं। इस प्रकार से जिले में 7 दुकानें शेष रह गई हैं।

कुमाऊं मंडल की दुकानों की स्थिति

कुमाऊं में कुल 48 दुकानों का आवंटन होना बाकी था। जिसमें से अल्मोड़ा में 11 दुकानों के लिए 32, बागेश्वर में 4 दुकानों के लिए 4, चंपावत में 5 के लिए 5, पिथौरागढ़ में 9 दुकानों के लिए 42 व उधमनसिंहनगर में 14 दुकानों के लिए विभाग के पास 22 आवेदन आए हैं।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.