अमेरिकी रॉक सिंगर निकी मिनाज ने चुपचाप बदल डाली भारत के इस गांव की तस्वीर

2017-05-23T07:08:07Z

अमेरिका की पॉपुलर रॉक सिंगर निकी मिनाज की मदद से इंडिया के एक गांव में गांव में खोला गया कंप्यूटर सेंटर सिलाई संस्थान। गुपचुप तरीके से विकास के लिए पहुंचा रही हैं पैसा।

पीएम मोदी की सांसदों द्वारा गांव को गोद लेने की आदर्श ग्राम योजना में गुपचुप तरीके से अमेरिका की रैपर निकी मिनाज भी शामिल हो गई हैं। हालांकि उन्होंने गांव को गोद तो नहीं लिया है, लेकिन पिछले दो सालों से वह गांव में विकास के लिए यहां पैसा भेज रहीं हैं। जिसके चलते सुविधाओं से दूर यह गांव विकास की ओर बढ़ रहा है। निकी ने इस गांव की एक तस्वीर इंटस्टाग्राम पर शेयर भी की है। जिसको लाखों लोगों ने देखा है और मिनाज के इस कार्य की सराहना कर रहे हैं।

 

गांव में खुला कंप्यूटर सेंटर
मिनाज ने जो तस्वीर साझा की है, उसमें एक भारतीय व्यक्ति ग्रामीणों से घिरा हुआ है, और वह गांव में लगे एक नए हैंडपंप को दिखा रहा है। मिनाज ने लिखा है कि यह उन चीजों में से है, जिससे मुझे बेहद गर्व महसूस होता है। मैं भारत में इस गांव के लिए पिछले कुछ सालों से पैसा भेज रही हूं, उससे वहां एक कंप्यूटर केंद्र्र, सिलाई सीखने का एक संस्थान, एक शैक्षिक संस्थान और दो कुंओं का बंदोबस्त किया गया है।

बाहुबली 2 के ये पांच सबक आपकी जिंदगी में भर सकते हैं खुशी और सुकून

 

लोगों को मिलेगी प्रेरणा
मिनाज ने लिखा है कि हम सबसे हास्यास्पद छोटी-छोटी चीजों की शिकायतें करते रहते हैं, जबकि कुछ लोगों के पास पीने का स्वच्छ पानी भी नहीं है। इंडिया को शुभकामनाएं। मैं आपको निकट भविष्य में अपने दान कार्यक्रम के बारे में और अधिक लोगों को बताऊंगी ताकि यदि आप इसका हिस्सा बनना चाहते हैं तो बन सकते हैं। आपको प्यार। हालांकि मिनाज ने जो तस्वीर दिखाई है, उसमें गांव की स्पष्ट पहचान नहीं हो सकी है। मिनाज आगे चलकर गांव की इस उपलब्धि के बारे में लोगों को जानकारी देना चाहती हैं। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसके बारे में जाने और गांवों की सुविधाओं के लिए लोग प्रेरणा लेकर विकास कार्य कर सकें।

शाहरुख की बेटी सुहाना हुईं 17 बरस की! उनका ग्लैमरस अंदाज और एक्टिंग देख हो जाएगी बोलती बंद

Entertainment News inextlive from Entertainment News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.