अमित शाह आज 'आयुष्मान सीएपीएफ' हेल्थकेयर स्कीम का करेंगे शुभारंभ, सीएपीएफ कर्मियों और उनके परिवारों ऐसे मिलेगा लाभ

अमित शाह आज 'आयुष्मान सीएपीएफ' स्वास्थ्य सेवा योजना का शुभारंभ करेंगे। इस पहल का लक्ष्य सीएपीएफ कर्मियों और उनके परिवारों को अस्पतालों में कैशलेस और पेपरलेस चिकित्सा उपचार प्रदान करना है।

Updated Date: Sat, 23 Jan 2021 12:04 PM (IST)

नई दिल्ली (एएनआई)। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार को असम के गुवाहाटी में केंद्रीय अर्धसैनिक बल के जवानों के लिए आयुष्मान सीएपीएफ स्वास्थ्य सेवा योजना का शुभारंभ करेंगे। यह योजना, गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) द्वारा एक संयुक्त पहल है। इसका लक्ष्य अस्पतालों में कैशलेस और पेपरलेस चिकित्सा उपचार प्रदान करना है और यह देश भर में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) के कर्मियों के लिए स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुंच सुनिश्चित करेगा। सीएपीएफ के जवानों और उनके परिवारों की सुविधा के लिए एक समर्पित वेबसाइट तैयार की गई है।

HM Amit Shah to launch 'Ayushman CAPF' scheme for jawans of all paramilitary forces, in Guwahati, today. This scheme will provide cashless & paperless medical treatment at empanelled hospitals. The scheme will ensure access to health services across the country to CAPFs personnel pic.twitter.com/kRRCBOMCET

— ANI (@ANI) January 23, 2021


आश्रितों को एक ई-कार्ड मिलेगा
गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने कहा कि गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा एक संयुक्त पहल, जो सभी सात बलों, सेवारत CAPF कर्मियों को कैशलेस स्वास्थ्य सेवा प्रदान करेगी। असम राइफल्स, BSF, CISF, CRPF, ITBP, NSG और SSB, और आयुष्मान भारत PM-JAY IT प्लेटफॉर्म के माध्यम से उनके आश्रितों को सुविधा मिलेगी। जवानों और उनके आश्रितों को एक ई-कार्ड मिलेगा।
24x7 कॉल सेंटर शुरू होगा
आयुष्मान भारत और सीएपीएफ के बीच अभिसरण मौजूदा मजबूत आईटी ढांचे की मजबूती, देश के विभिन्न निजी अस्पतालों के नेटवर्क तक पहुंच और सेवाओं के लिए पहली बार ये पहल है। एक 24x7 कॉल सेंटर, ऑनलाइन शिकायत प्रबंधन प्रणाली, धोखाधड़ी, और दुरुपयोग नियंत्रण प्रणाली, और वास्तविक समय की निगरानी डैशबोर्ड भी शुरू किए जाएंगे। योजना के तहत स्वास्थ्य सुविधाएं चरणबद्ध तरीके से सभी सीजीएचएस और आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी पीएम-जेएवाई) निजी अस्पतालों में उपलब्ध होंगी।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.