अमरीश पुरी की 14वीं पुण्य तिथि पर बेटे वर्धान ने उनसे किया ये वादा बताया कैसा था उनसे रिश्ता

2019-02-12T11:51:38Z

अमरीश पुरी की डेथ एनिवर्सरी पर उनके बेटे वर्धान पुरी ने उन्हें याद कर सोशल मीडिया पर एक पोस्ट साझा की जिसमें वो पिता के कार्ड बोर्ड से बने पुतले संग खड़े हैं। वहीं पिता संग उन्होंंने अपनी कुछ पुरानी यादें ताजा की और 14वीं डेथ एनिवर्सरी पर पिता से एक वादा भी किया

कानपुर। आज बाॅलीवुड के दिग्गज विलेन अमरीश पुरी की 14वीं डेथ एनिवर्सरी है। इस मौके पर उनके बेटे वर्धान ने अपने पिता संग एक तस्वीर साझा की है जिसमें वो उनके कार्ड बोर्ड के पुतले के साथ खड़े हैं। वर्धान ने अपने पिता संग ये तस्वीर अपने सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर कर पिता को याद किया और इमोशनल हो गए। इस पोस्ट में उन्होंने जो लिखा है उसे पढ़ कर पिता के लिए एक बेटे की भावुकता को समझा जा सकता है। वर्धान मुंबई में हुए एक कल्चरल इवेंट में पहुंचे जहां उनके पिता का कार्ड बोर्ड से बना पुतला लगा था। वहीं वहां से आते जाते लोग ये कहते हुए गुजर रहे थे, 'मोगैंबो खुश हुआ'। मालूम हो वर्धान ने बाॅलीवुड में फिल्म 'पागल' से डेब्यू किया था।
वर्धान ने पिता से किया ये वादा

वर्धान ने पिता अमरीश संग तस्वीर साझा कर एक बेहद इमोशनल पोस्ट लिखा और एक वादा किया। इस पोस्ट में उन्होंने लिखा, 'आपको दुनिया छोड़े 14 साल हो रहे हैं पर अभी भी ऐसा लगता है कि आप मेरे साथ खड़े हैं। आप मुझे हर कदम पर गाइड करते रहे। मुझे डर से जीतना सिखाते रहे और मुझे सपने देखने की पाॅवर दी। आपने मुझे सिखाया कि जीवन में हर चीज पाॅसिबल है और परिवार सबसे पहले आता है। मैं आपको खुद पर गर्व कराऊंगा... ये आपसे मेरा वादा है।' वर्धान की ये पोस्ट एक बाप-बेटे के रिश्ते को बखूबी बयां कर रही है। दोनों के बीच के इस रिलेशन को उन्होंने फैंस से भी साझा किया है।
इस वजह से हुआ था अमरीश का निधन
अमरीश पुरी को एक रेयर तरह का ब्लड कैंसर था। इसके चलते उन्हें एक ब्रेन सर्जरी भी करवानी पड़ी थी। इसके लिए उन्हें हिंदुजा अस्पताल में 2004 में एडमिट होना पड़ा था। वहीं कुछ समय बाद एक्टर कोमा में चले गए और 12 जनवरी, 2005 को करीब 7:30 बजे सुबह उनका निधन हो गया। मालूम हो फिल्मों में उन्होंने बतौर विलेन ही नाम कमाया और हिट साबित हुए। उन्होंने 'नगिना', 'कोयला', 'करण-अर्जुन', 'दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे', 'फूल और कांटे', 'गदर' और 'नायक' जैसी फिल्मों में ऐसे बेहतरीन निगेटिव रोल निभाए हैं कि एक समय तो ऐसा भी आया था जब लोग उन्हें रियल लाइफ में भी नापसंद करने लगे थे।

अमरीश पुरी बनना चाहते थे हीरो पर बन गए विलेन, आखिरी बार इस फिल्म में आए थे नजर


प्रेम चोपडा़ ही नहीं ये हैं बॉलीवुड के 10 शानदार खलनायकों के यादगार डायलॉग, कौन सा है आपका फेवरेट



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.