सीएम के निरीक्षण में हां कार्य अब तक अधूरा

2018-06-19T06:01:16Z

बक्शी बांध से दशाश्वमेध घाट तक बनाई जा रही एप्रोच रोड

सीएम ने तय समय पर कार्य पूरा करने की दी थी हिदायत

dhruva.shankar@inext.co.in

ALLAHABAD: संगम की रेती पर अगले वर्ष आयोजित होने जा रहे कुंभ मेला को लेकर पूरे शहर में विकास कार्य कराए जा रहे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने 19 मई को बक्शी बांध से दशाश्वमेध घाट तक बनाई जा रही एक किमी की एप्रोच रोड का स्थलीय निरीक्षण किया था और बाढ़ प्रखंड विभाग के अधिकारियों ने कार्य को 25 जून तक पूरा करने का आश्वासन दिया था, लेकिन ये संभव नहीं दिख रहा। इसकी बड़ी वजह ये है कि एक किमी के दायरे में सिर्फ बोल्डर बिछाने और जमीन समतल करने का कार्य पूरा हो सका है।

आठ माह में पैंतालीस फीसदी कार्य

दारागंज स्थित बक्शी बांध से नीचे ढलान से लेकर नागवासुकि मंदिर होते हुए दशाश्वमेध घाट के मध्य एप्रोच रोड बनाने का कार्य 26 अक्टूबर से शुरू कराया गया था। इसके अन्तर्गत एक किमी लम्बी और 18 मीटर चौड़ी रोड बनाई जानी है। इसमें गंगा का कछारी तट होने की वजह से रोड के किनारे बोल्डर बिछाया जाना है। इसके बाद मिट्टी को समतल करना है। फिर गिट्टी डालकर इंटरलाकिंग टाइल्स लगाने का कार्य निर्धारित किया गया था। लेकिन अभी तक रोड पर सिर्फ बोल्डर बिछाया गया है और जमीन को समतल करने का कार्य किया जा रहा है।

अब बारिश के बाद होगा कार्य

सीएम के स्थलीय निरीक्षण का असर भी अधिकारियों के उपर बेअसर साबित हुआ है। सीएम योगी आदित्यनाथ के निरीक्षण के दौरान विभागीय अधिकारियों ने भले ही समय से कार्य पूरा करने का आश्वासन दिया था लेकिन जून के बाकी बचे दिनों को तो छोडि़ए आने वाले जुलाई और अगस्त महीने में भी एप्रोच रोड का कार्य पूरा होना मुश्किल दिख रहा है। विभाग के अधिशाषी अभियंता मनोज कुमार सिंह की मानें तो बारिश का मौसम शुरू हो चुका है। इसलिए कार्य पूरा कराने के लिए दो महीने तक इंतजार किया जाएगा।

शोभा बढ़ा रहा कार्य का बोर्ड

जिस तरह से एप्रोच रोड का कार्य हो रहा है और आश्वासन के बाद भी 25 जून की डेडलाइन तक कार्य कराने का वादा किया गया था। उस कार्य से संबंधित बोर्ड कार्य शुरू होने से एक दिन पहले ही बांध के ढलान पर लगा दिया गया था। ये सिर्फ उधर से गुजरने वाले लोगों को देखने में शोभा बढ़ाने का काम कर रहा है।

मेला का दूसरा मुख्य इंट्री प्वांइट

कार्य की हीलाहवाली का आलम ये है कि आठ माह आधा अधूरा कार्य कराया जा सका है। यह स्थिति तब है जब बक्शी बांध होते हुए मेला क्षेत्र में इंट्री करने वाला यह एप्रोच रोड दूसरा मुख्य इंट्री प्वाइंट है। इसके आसपास पूरे एरिया में मेला बसाया जाएगा।

नोट

- बक्शी बांध से नागवासुकि मंदिर होते हुए दशाश्वमेध घाट के मध्य एक किमी के दायरे में एप्रोच रोड बनाई जा रही है।

- एप्रोच रोड के निर्माण की लागत 2368.69 लाख रुपए है। इसका निर्माण कार्य 25 अक्टूबर 2017 से शुरू किया गया और कार्य समाप्त होने की निर्धारित तिथि 26 जून है।

एप्रोच रोड का निर्माण कार्य बरसात के बाद पूरा कराया जाएगा। तब तक रोड पर बुलडोजर के जरिए जमीन को समतल और गिट्टी को मजबूती के साथ बैठाने का कार्य कराया जाएगा। बारिश का मौसम समाप्त होने के बाद इंटरलाकिंग टाइल्स लगाने का कार्य कराया जाएगा।

मनोज कुमार सिंह, अधिशाषी अभियंता, बाढ़ प्रखंड व सिचाई विभाग


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.