दिल्ली से मेरठ के बीच रैपिड रेल को मंजूरी

2019-02-20T10:48:11Z

सरकार ने दिल्ली से गाजियाबाद और मेरठ के बीच 82 15 किलोमीटर लंबे रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम आरआरटीएस के निर्माण को मंजूरी दे दी है

30 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट की लागत केंद्र, राज्य मिलकर वहन करेंगे

meerut@inext.co.in
Meerut: सरकार ने दिल्ली से गाजियाबाद और मेरठ के बीच 82.15 किलोमीटर लंबे रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) के निर्माण को मंजूरी दे दी है. इस रैपिड परियोजना पर 30,274 करोड़ रुपये की लागत आएगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की आर्थिक मामलों की समिति ने मंगलवार को इसे हरी झंडी दिखा दी.

मेरठवासियों को जाम से राहत
आरआरटीएस के बनने व चालू होने से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के ट्रांसपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर में महत्वपूर्ण इजाफा होगा. इसके बनने पर मेरठवासियों गाजियाबाद व दिल्ली के बीच सड़क और रेल यातायात में जाम की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा. साथ समय की भी बचत होगी.

82 किलोमीटर 60 मिनट में
रैपिड द्वारा मेरठ से दिल्ली का 82 किलोमीटर का सफर 60 मिनट से भी कम समय में तय किया जाएगा. आरआरटीएस की कुल लंबाई में 68.03 किलोमीटर हिस्सा एलीवेटेड होगा, जबकि 14.12 किलोमीटर हिस्सा अंडरग्राउंड होगा. इसके बनने में करीब 5634 करोड़ रुपये लागत आएगी.

आरामदायक और सबसे तेज
दिल्ली से मेरठ के बीच ये इस परियोजना के तहत हाईस्पीड रेल ट्रांजिट प्रणाली की स्थापना की जाएगी. मेरठवासियों के लिए यह समय की बचत और परिवहन की सबसे तेज, आरामदायक और सुरक्षित साधन साबित होगी. इसे सड़क तथा हवाई यातायात के अन्य साधनों के साथ जोड़ने के लिए उपयुक्त इंतजाम किए जाएंगे.


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.