Army Day 2020: सीडीएस व आर्मी चीफ ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि, रक्षा मंत्री ने सैनिकों को किया सलाम

Updated Date: Wed, 15 Jan 2020 10:43 AM (IST)

Army Day 2020 के अवसर पर आज सीडीएस व इंडियन आर्मी चीफ ने सेना की वीरता अदम्य साहस शौर्य और कुर्बानी को याद करते हुए राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस माैके पर रक्षा मंत्री ने भी भारतीय सेना के जवानों को शुभकामनाएं दीं।

नई दिल्ली (एएनआई)। Army Day 2020 देश में आर्मी डे यानी कि सेना दिवस मनाया जा रहा है। आर्मी डे हर साल 15 जनवरी को मनाया जाता है। इस विशेष अवसर पर सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने के साथ सेना दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके अलावा एयर स्टाफ के प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया और नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने भी यहां श्रद्धांजलि दी।

Rajnath Singh greets Indian Army personnel on Army Day 2020
Read @ANI Story| https://t.co/cJ9JryJngj pic.twitter.com/qfUvIjih8b

— ANI Digital (@ani_digital) January 15, 2020


भारतीय सेना के जवानों को सलाम किया

वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को भारतीय सेना के जवानों को सेना दिवस, 2020 के अवसर पर शुभकामनाएं दीं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने ट्विटर हैंडल पर भारतीय सेना के जवानों के साथ एक फोटो साझा की। राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया कि आज के दिन मैं सभी बहादुर भारतीय सेना के जवानों को सलाम करता हूं और उनकी अदम्य भावना, वीरता और बलिदान को भारत को एक सुरक्षित राष्ट्र बनाने के लिए याद करता हूं।

72nd #ArmyDay being celebrated across country. It celebrated every year to commemorate the day when General K.M Carriappa took over command of Army from General F.R.R Bucher, last British Commander-in-Chief in 1949 & became 1st Commander-in-Chief of Indian Army post Independence. pic.twitter.com/YVwmpBA3z9

— All India Radio News (@airnewsalerts) January 15, 2020
सैन्य परेड व शक्ति प्रदर्शन होता है
सेना दिवस पर दिल्ली में सेना कमान मुख्यालय के साथ-साथ देश के अन्य हिस्सों में सैन्य परेड व शक्ति प्रदर्शन होता है।यह फील्ड मार्शल केएम करियप्पा के सम्मान में मनाया जाता है। करियप्पा भारतीय सेना के पहले कमांडर-इन-चीफ थे, जिन्होंने 15 जनवरी 1949 में सर फ्रैंसिस बुचर से प्रभार लिया था। बता दें कि करियप्पा ने 1947 में भारत-पाक के बीच हुए युद्ध में भारतीय सेना की कमान संभालते हुए पाकिस्‍तान को धूल चटा दी थी।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.