एम्स में भर्ती अरुण जेटली की हालत स्थिर देखने पहुंचे उप राष्ट्रपति ने डाॅक्टरों से की बात

2019-08-10T12:08:19Z

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की हालत में स्थिर है। उन पर दवाओं का असर हो रहा है। दिल्ली एम्स में भर्ती जेटली का हाल जानने शनिवार को उप राष्ट्रपति भी पहुंचे। वहीं कल शुक्रवार को पीएम व रक्षा मंत्री समेत कई बड़े नेता उन्हें देखने पहुंचे थे।

नई दिल्ली (एएनआई)। पूर्व वित्त मंत्री व वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण जेटली शुक्रवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिल्ली में भर्ती हुए। यहां उनका इलाज जारी है। एम्स के डाॅक्टरों का कहना है कि 66 वर्षीय जेटली की हालत स्थिर है।वह प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं। वहीं शनिवार सुबह उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू  पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को देखने एम्स पहुंचे। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने अरुण जेटली के इलाज में लगी डॉक्टरों की टीम से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। इसके अलावा जेटली के परिवार से भी मुलाकात की।

Delhi: Vice President Venkaiah Naidu leaves from All India Institute of Medical Sciences(AIIMS) after visiting former Union Minister Arun Jaitley. The Minister is currently undergoing treatment in the intensive care unit. pic.twitter.com/xdqywttE5q

— ANI (@ANI) August 10, 2019


पीएम मोदी समेत पहुंचे ये राजनेता
आज भी राजनैतिक जगत से जुड़े लोग जेटली का हालचाल जानने पहुंच रहे हैं। बता दें कि अरुण जेटली को शुक्रवार सुबह एम्स आईसीयू में में भर्ती हुए थे। सूत्रों का कहना है कि उन्हें कमजोरी और घबराहट महसूस हो रही थी। शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन समेत कई नेताओं ने एम्स जाकर जेटली का हाल जाना। इसके अलावा और भी कई बड़े राजनेता देर रात एम्स पहुंचे थे। अरुण जेटली किडनी की समस्या से ग्रस्त हैं।वह इलाज के लिए इस साल जनवरी में अमेरिका भी गए थे।
नई सरकार में शामिल नहीं होंगे अरुण जेटली, पीएम मोदी को लिखी ये चिट्ठी
अरुण जेटली स्वास्थ्य से परेशान

अरुण जेटली जब इस साल मई में भाजपा प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापस आई, तब वह अपनी स्वास्थ्य स्थिति का हवाला देते हुए नए मंत्रिमंडल से बाहर हो गए थे। उन्होंने चिट्ठी के जरिए पीएम मोदी से कहा था कि? मैं आपसे औपचारिक रूप से विनती करते हुए लिख रहा हूं कि मुझे अपने इलाज और स्वास्थ्य के लिए उचित समय चाहिए। इसलिए मैं नई सरकार में किसी भी जिम्मेदारी का हिस्सा नहीं बनना चाहता हूं। इसके बाद मेरे पास काफी समय होगा, जिसमें मैं अनौपचारिक रूप से सरकार या पार्टी में सहयोग करने के लिए तत्पर रहूंगा।

 

Posted By: Shweta Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.