विपरीत परिस्थतियों में काम करना आशा की पहचान

2018-09-29T04:01:03Z

-जिले की 83 आशा बहुओं को किया गया सम्मानित

ALLAHABAD: आशाएं विपरीत हालातों का सामना करते हुए लोगों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए लगातार प्रयासरत रहती हैं। इसके लिए वह सही मायने में धन्यवाद की हकदार हैं। यह बात डीएम सुहास एलवाई ने कही। वह शुक्रवार को प्रयाग संगीत समिति में आयोजित आशा सम्मेलन में बतौर विशिष्ट अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने आयुष्मान भारत से होने वाले लाभ को हर गरीब परिवार को दिलाने की जिम्मेदारी आशाओं को दी।

रंग बदलने का रखेंगी प्रस्ताव

मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष रेखा सिंह ने मुख्य मंत्री द्वारा आशाओं के लिए जारी शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि आशाओं की साड़ी के सफेद रंग से उन्हें दिक्कत होती है जिसे बदलने का वह प्रस्ताव रखेंगी। सीएमओ डॉ। गिरजाशंकर बाजपेई ने कहा कि आशा एक मजबूत कड़ी के रूप में स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं को संचालित करवाती हैं। मातृ एवम शिशु मृत्यु दर कम करने के लिए जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं को आशाओं को चिंहित करना होगा। इस मौके पर एसीएमओ डॉ। कैप्टन आशुतोष, डॉ। गणेश, डॉ। वीके मिश्रा, सत्येन राय ने अपने विचार रखे।

इनको किया गया सम्मानित

कार्यक्रम में 83 आशा बहुओं को सम्मानित किया गया। साथ ही तीन अच्छा कार्य करने वाली आशाओं को डीएम ने प्रशस्ति पत्र सौंपा। जिसमें प्रथम पुरस्कार कौडिहार ब्लॉक की पूनम पाण्डेय, द्वितीय पुरस्कार जसरा ब्लॉक की विमला शुक्ला एवं तृतीय पुरस्कार फूलपुर ब्लॉक के अर्चना यादव को दिया गया। इन्हें क्रमश: 5000, 2000 एवं 1000 रुपए की धनराशि भी पीएफएमएस के माध्यम से दी गई है। जिला कार्यक्रम प्रबन्धक विनोद सिंह, जिला स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी वर्तिका सिंह, डीसीपीएम अशफाक अहमद, हिमांशु श्रीवास्तव स्मिता सिंह, समस्त अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, एवं सभी ब्लॉकों के अधीक्षक, बीसीपीएम, बीपीएम, एचइओ यूनिसेफ से शिशिर ममता संस्थान से भूपेन्द्र आदि उपस्थित रहे।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.