Ashes 2019: एशेज सीरीज में टूटा 113 साल पुराना वो रिकाॅर्ड, जो कोई नहीं बनाना चाहेगा

Updated Date: Mon, 16 Sep 2019 09:49 AM (IST)

इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की एशेज सीरीज रविवार को बराबरी के साथ खत्म हुई। इस सीरीज में एक ऐसा रिकाॅर्ड बना जिसे कोई नहीं बनाना चाहेगा।


कानपुर। ऑस्ट्रेलिया बनाम इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की एशेज सीरीज का पांचवां टेस्ट रविवार को खत्म हुआ। इस मैच में मेजबान इंग्लैंड ने 135 रनों से जीत दर्ज की, जिसके साथ सीरीज 2-2 की बराबरी पर खत्म हुई। वैसे तो यह एशेज सीरीज स्टीव स्मिथ की धमाकेदार बैटिंग के लिए जानी जाएगी मगर इस सीरीज के दौरान एक अनचाहा कारनामा ऐसा हुआ जिसके साथ ही 113 साल पुराना रिकाॅर्ड टूट गया। इस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड दोनों टीमों के ओपनर ने इतनी खराब बल्लेबाजी की, कि पिछली एक सदी का रिकाॅर्ड टूट गया।पिछले 100 सालों की सबसे खराब ओपनिंग
पांच मैचों की इस सीरीज में दोनों टीमों के ओपनर्स का बल्लेबाजी औसत सिर्फ 12.55 का रहा। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से जहां डेविड वार्नर लगातार 10 पारियों में फ्लाॅप रहे वहीं इंग्लैंड ने भी बदल-बदल कर ओपनिंग करवाई मगर परिणाम वही रहा। दोनों टीमों की तरफ से एक भी बड़ी ओपनिंग साझेदारी नहीं हो पाई। इसी के साथ इंग्लिश और कंगारु बल्लेबाजों के नाम एक अनचाहा रिकाॅर्ड दर्ज हो गया। पांच मैच या उससे ज्यादा की टेस्ट सीरीज में किन्हीं भी ओपनर्स का यह सबसे खराब औसत है। इससे पहले यह रिकाॅर्ड साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड के ओपनर्स के नाम था जिन्होंने 1906 में खेली गई पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में मात्र 14.16 की औसत से बल्लेबाजी की।वार्नर का नहीं कटेगा पत्ताऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग का कहना है कि सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर एशेज सीरीज में खराब प्रदर्शन के बावजूद पाकिस्तान के खिलाफ होने वाली घरेलू सीरीज में टीम का हिस्सा होंगे। वार्नर के लिए मौजूदा सीरीज बेहद खराब रही है और वह सात बार तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड का शिकार हुए हैं। तीन बार तो वह अपना खाता भी नहीं खोल पाए। पोंटिंग ने कहा कि वार्नर टीम में बने रहेंगे।ICC World Test Championship Points Table : एशेज सीरीज से भारत की रैंकिंग पर नहीं पड़ा असर, जानें इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया किस पोजीशन परकुछ पर विचार किया जाना बाकीपोंटिंग ने कहा कि मार्नस लाबुशाने और स्टीव स्मिथ की जगह भी पक्की है। हालांकि, मध्य क्रम में मैथ्यू वेड और ट्रेविस हेड पर प्रश्न चिन्ह है। मार्कस हैरिस को इस सीरीज में बेहतरीन तेज गेंदबाजों की चुनौती का सामना करना पड़ा है। टिम पेन भी कप्तान बने रहेंगे, लेकिन बल्लेबाजी क्रम में कुछ ऐसी जगह हैं जिस पर पाकिस्तान सीरीज से पहले विचार किया जा सकता है।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.