Ashes 2019 : क्या होती है 'फेक फील्डिंग', जो पांचवें एशेज टेस्ट में बनी चर्चा का विषय

2019-09-14T11:25:35Z

इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच ओवल में खेले जा रहे पांचवें एशेज टेस्ट में फेक फील्डिंग देखने को मिली। आइए जानें कैसी होती है ये फील्डिंग और क्या कहता है नियम...

कानपुर। इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच ओवल में खेले जा रहे पांचवें एशेज टेस्ट में मैदान पर अजीब नजारा देखने को मिला। इंग्लैंड के विकेटकीपर जाॅनी बेयरेस्टो ने टेस्ट क्रिकेट की रन मशीन बन चुके स्टीव स्मिथ को आउट करने के लिए 'फेक फील्डिंग' का सहारा लिया जो आईसीसी नियमों के मुताबिक गलत है। दरअसल ओवल टेस्ट के दूसरे दिन जोफ्रा आर्चर की गेंद पर स्मिथ ने लांग ऑन की तरफ एक शाॅट मारा और दो रन लेने के लिए भाग पड़े। स्मिथ ने पहला रन तो आसानी से ले लिया मगर जब दूसरा रन लेने के लिए स्ट्राइकर एंड पर दौड़े तो वहां खड़े विकेटकीपर बेयरेस्टो ने स्मिथ को ऐसे दिखाया कि थ्रो उनके पास आ रहा और वह रन आउट करने जा रहे। ऐसे में स्मिथ को लंबी डाइव लगानी पड़ी जबकि असल में थ्रो बाॅलर एंड पर आ रहा था।
ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों ने जताई आपत्ति
जाॅनी बेयरेस्टो की इस हरकत को लेकर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों में काफी नारजगी है। एंड्यू टाई हों या जेसन गिलेस्पी, सभी ने इसे फेक फील्डिंग करार दिया है। टाई ने टि्वटर पर पूछा - क्या ये फेक फील्डिंग नहीं है क्या। वहीं पूर्व ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज गिलेस्पी ने इस पर पेनाल्टी लगाने की बात कह डाली। गिलेस्पी लिखते हैं - ये फेक फील्डिंग है, इस पर पांच पेनाल्टी रन मिलने चाहिए।

Is that not fake fielding? #Ashes

— Andrew Tye (@aj191) 13 September 2019
फेक फील्डिंग को लेकर क्या है आईसीसी का नियम
क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने मैच के दौरान खिलाड़ियों की फेेक फील्डिंग को लेकर साल 2017 में एक नियम बनाया था। इसके मुताबिक, 'स्ट्राइकर द्वारा गेंद खेलने के बाद किसी भी फील्डर द्वारा शब्द या एक्शन द्वारा बल्लेबाज को विचलित किया जाता है, धोखा दिया जाता है या बाधित किया जाता है तो इसे अनुचित माना जाएगा।'

5 penalty runs as per the laws of the game.... https://t.co/6rMNrQMiMh

— Jason Gillespie 🌱🌈 (@dizzy259) 13 September 2019


पेनाल्टी पर मिलते हैं पांच रन
यदि फील्डिंग टीम द्वारा कोई फील्डर आईसीसी के फेक फील्डिंग नियम का उल्लंघन करता पाया जाता है। तो अंपायर को अधिकार है कि वह फील्डिंग टीम पर पांच रन की पेनाल्टी लगाए, यानि कि बैटिंग टीम को पांच रन अतिरिक्त मिल जाते हैं।
मार्नस लबुछाने थे पहले खिलाड़ी जिन्हें पाया गया दोषी
फेक फील्डिंग के चलते दोषी पाए जाने वाले पहले खिलाड़ी मार्नस लबुछाने थे। 2017 में क्वींसलैंड और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इलेवन के बीच एक मैच खेला गया था जिसमें क्वींसलैंड की ओर से खेलते हुए लबुछाने ने फील्डिंग के जरिए बल्लेबाज को धोखा दिया था। ऐसे में अंपायर ने पेनाल्टी के रूप में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया टीम को पांच अतिरिक्त रन दे दिए थे।

 

 

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.