एशियन गेम्स में पाकिस्तान और चीन से ऊपर लहराया तिरंगा

2018-08-28T17:43:57Z

एशियन गेम्स 2018 में सोमवार का दिन भारत के लिए काफी शानदार रहा। जैवलीन थ्रो में भारत का मुकाबला पाकिस्तान और चीन के साथ था जिसमें भारतीय एथलीट ने बाजी मारी और तिरंगे का मान बढ़ाया।

कानपुर। इंडोनेशिया में आयोजित 18वें एशियन गेम्स में सोमवार का दिन हर भारतीय के लिए गर्व का क्षण लेकर आया। जैवलीन थ्रो प्रतियोगिता में भारतीय एथलीट नीरज चोपड़ा ने जब पाकिस्तानी और चीनी एथलीट को पछाड़ा तो भारत का नाम रोशन हो गया। नीरज का पहला थ्रो 83.46 मीटर रहा हालांकि दूसरे थ्रो में उनका पैर लाइन से बाहर चला गया, जिसे फाउल माना गया लेकिन तीसरे थ्रो में उन्होंने 88.06 दूर भाला फेंका। इसी के साथ नीरज ने खुद का ही नेशनल रिकॉर्ड तोड़ दिया। चौथे थ्रो में भी नीरज ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 86.36 मीटर दूर भाला फेंका। 5वें थ्रो में उन्होंने फाउल किया लेकिन वह बाकी विरोधियों से काफी आगे थे, जिसकी वजह से ज्यादा फर्क नहीं पड़ा और गोल्ड उनके नाम हो गया।

सबसे ऊपर लहराया तिरंगा
नीरज के गोल्ड जीतते ही तिरंगा सबसे ऊपर लहराया गया। मेडल सेरेमनी के दौरान तिरंगा सबसे ऊपर, उसके नीचे चीनी झंडा और सबसे नीचे पाकिस्तानी झंडा था। दरअसल इस प्रतियोगिता में चीन को सिल्वर और पाक को ब्रॉन्ज मिला था। यही नहीं जब पोडियम पर राष्ट्रगान बजा तो नीरज के साथ-साथ प्रत्येक भारतीय गौरवान्वित महसूस करने लगा।
पाक एथलीट के साथ नीरज का दोस्ताना
इंडोनेशिया में चल रहे 18वें एशियन गेम्स में भारतीय एथलीट नीरज चोपड़ा ने गोल्ड के साथ-साथ लाखों लोगों का दिल भी जीत लिया। सोमवार को हुए जैवलीन थ्रो प्रतियोगिता में नीरज का सामना पाकिस्तान और चीन के खिलाड़ियों से था। नीरज ने शानदार प्रदर्शन करते हुए दोनों पड़ोसी देशों के एथलीटों को पछाड़ते हुए गोल्ड पर कब्जा कर लिया। मेडल सेरेमनी के दौरान जब तीनों खिलाड़ियों को बुलाया गया तो नीरज और पाक एथलीट अरशद नदीम के बीच जो बातचीत हुई उसने फैंस का दिल लूट लिया। खासतौर से भारतीय टेनिस स्टार यह दृश्य देखकर खुद को रोक नहीं पाई और ट्वीट कर अपनी फीलिंग्स शेयर कर दी।

सानिया ने ऐसे किया ट्वीट

सानिया ने ट्वीट किया, 'मैं हमेशा से कहती आई हूं कि खेल के जरिए हम अपने बच्चों को एक अच्छी सीख दे सकते हैं। इसके जरिए आप स्पोर्ट्समैनशिप, इक्वेलिटी, रेस्पेक्ट और सबसे महत्वपूर्ण मानवता का पाठ पढ़ सकते हैं। यही नहीं हमारे चैंपियन एथलीट्स से भी आप अच्छी सीख ले सकते हैं। बहुत अच्छा नीरज चोपड़ा, गोल्ड जीतने के लिए आपको बधाई।'

पहले किसी ने नहीं जीता था गोल्ड

नीरज मिल्खा सिंह के बाद दूसरे ऐसे एथलीट है जिन्होंने एक ही साल में कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीता हो। नीरज का ये कारनामा इसलिए भी खास हो जाता है क्योंकि जैवलिन में भारत कभी गोल्ड नहीं जीत पाया था। जैवलिन में आखिरी पदक साल 1982 में गुरतेज सिंह ने जीता था। दिल्ली में हुए उस गेम्स में गुरतेज ने कांस्य हासिल किया था। लेकिन नीरज ने यहां सब को पीछे छोड़ दिया।
एशियन गेम्स : पाकिस्तान को हराकर नीरज ने जीता गोल्ड तो सानिया मिर्जा ने कर दिया ये ट्वीट
कोहली से ज्यादा हैंडसम और स्टाईलिश हैं एशियन गेम्स में गोल्ड जीतने वाले नीरज चोपड़ा



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.