अटल आयुष्मान योजना में 537 लाख परिवारों को मिलेगा लाभ

2018-12-24T06:00:04Z

उत्तराखंड में कल लॉन्च होगी योजना

-निशुल्क स्वास्थ्य सुविधा देने वाला उत्तराखंड होगा पहला राज्य

बन्नू स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में होगी योजना की शुरुआत

देहरादून, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के जन्म दिन पर मंगलवार को राज्य में अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना का आगाज होगा। रेसकोर्स बन्नू स्कूल में आयोजित एक कार्यक्रम में योजना की शुरुआत होगी। योजना के लॉचिंग के लिए सजाए गए पांडाल में करीब 7 हजार लोगों के बैठने का इंतजाम किया गया है। इसके अलावा 40 सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर्स) को बुलाया गया है, जो ऑन द स्पॉट ही कार्ड तैयार करेंगे।

23 लाख परिवारों का लक्ष्य

अटल आयुष्मान योजना के तहत राज्य सरकार ने योजना को ड्रीम प्रोजेक्ट के तौर पर स्वीकारते हुए 23 लाख परिवारों को कवर करने का पहले ही फैसला लिया है। इसके लिए तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। दावा किया जा रहा है कि उत्तराखंड पहला राज्य होगा, जहां इस योजना के तहत निशुल्क स्वास्थ्य सुविधा सुरक्षा प्रदान की जा रही है। यह सुविधा राज्य के सरकारी व सूचीबद्ध प्राइवेट अस्पतालों में मिल पाएगी। हालांकि आपातकाल में सूचीबद्ध प्राइवेट अस्पतालों में ट्रीटमेंट के लिये सीधे भर्ती होने पर यह सुविधा मिलेगी, लेकिन बाकी मामलों में सरकार हॉस्पिटल से रेफर होने के बाद ही प्राइवेट अस्पतालों में ट्रीटमेंट मिल पाएगा। लॉचिंग के मौके पर योजना के कार्ड बनाने के लिए आईडी प्रूफ के तौर पर राशन कार्ड, एमएसबीवाई कार्ड आदि के साथ फाेटो भी देनी होगी।

टाल फ्री नंबर जारी

योजना को सरल व सहज बनाने के लिये टोल फ्री हेल्प लाइन 104 व मोबाइल एप (अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना) के साथ ही वेब साइट आयुष्मानउत्तराखंड डॉट ओआरजी पर आम लोगों के सुझाव व शिकायत प्राप्त किए जा रहे हैं।

5.37 लाख परिवार चिन्हित

योजना के तहत उत्तराखंड के करीब 5.37 लाख परिवारों को चिन्हित किया गया है। दावा किया जा रहा है कि हर परिवार को पांच लाख रुपए तक प्रतिवर्ष फ्री चिकित्सा सुविधा व उपचार ले सकेगा।

मुख्य बिन्दु

-सभी परिवारों को बीमार होने पर ही अस्पतालों में भर्ती होने की दशा में योजना का लाभ मिलेगा।

-उपचार के लिये सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों का चिन्हीकरण।

- पात्र परिवारों के सभी उम्र के सभी सदस्य इस योजना के दायरे में होंगे।

- लाभार्थी परिवार के सदस्यों का विवरण मोबाइल एप के जरिए प्राप्त कर सकेंगे।

- उपचार के समय आपके पास कोई एक फोटो पहचान पत्र जरूरी होगा।

-चयनित परिवारों को उनके डाटा बेस के अनुसार प्रमाणित कर व संबंधित के फोटो पहचान पत्र के अनुसार उपचार मिलेगा।

- योजना में कुल 1350 प्रकार के रोग अवस्थाओं से संबंधित पैकेजों का चयन।

-हृदय रोग संबंधित कुल 130 पैकेज, नेत्र रोग संबंधित 42 पैकेज

-नाक कान गला रोग संबंधित 94, हड्डी के 114, यूरीन के 161 पैकेज।

-ऐसे ही महिला रोग, सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, प्लास्टिक सर्जरी, बर्न दंत व बाल रोग संबंधित पैकेजों का चयन।

-मरीजों की सहायता को सूचीबद्ध हॉस्पिटलों में आरोग्य मित्र तैनात रहेंगे।

-सूचीबद्ध अस्पतालों में तैनात आरोग्य मित्र का मोबाईल नंबर चिकित्सालय के हेल्प डेस्क पर उपलब्ध रहेगा।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.