आयुष्मान कार्ड बनने से पहले भी इलाज

2019-01-07T06:00:06Z

गोल्डन कार्ड बनने की प्रक्रिया में हो रही देरी को देखते हुए दी व्यवस्था

- कार्ड बनने में लग रहा है तीन दिन तक का समय

देहरादून,

अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना के तहत गोल्डन कार्ड बनने से पहले भी इलाज शुरू करवा सकते हैं। गोल्डन कार्ड बनवाने में हो रही देरी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने योजना में सूचीबद्ध किए गए अस्पतालों को ये निर्देश दिए हैं। सीएमओ डा। एसके गुप्ता ने बताया कि कोई भी अस्पताल ऐसे मरीजों को बिना इलाज के वापस नहीं लौटा सकता, जिसे योजना में शामिल किया गया है।

3 दिन में बन रहा कार्ड

प्रदेश के 23 लाख परिवारों को प्रति वर्ष प्रति परिवार 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज देने के लिए राज्य सरकार ने अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना लांच की है, जो कि 25 दिसंबर से शुरू हो गई है। योजना का लाभ लेने के लिए उत्तराखंड में रह रहे लोगों को राशन कार्ड के आधार पर रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। जिसके बाद 3 दिन में गोल्डन कार्ड मिल जा रहा है।

सामने आ रही हैं कठिनाइयां

हालांकि शुरुआत में योजना का लाभ लेने में कई प्रकार की कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है, जिसमें पोर्टल के हेवी हो जाने से कार्ड प्रोसेस भी स्लो चल रहा है। ऐसे में घंटों कतार में लगने के बाद लोगों को कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू हो रही है। इसके बाद ऑनलाइन कार्ड वेरिफिकेशन में 2-3 दिन का समय लग रहा है। ऐसे में मरीजों को तुंरत इसका लाभ पहुंचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग लगातार मॉनिटरिंग कर जरूरी गाइडलाइन जारी कर रहा है।

लगातार आ रही कम्पलेन

सीएमओ डा। एसके गुप्ता ने बताया कि लगातार इस तरह की कम्पलेन आ रही है कि कार्ड बनवाने के लिए लोगों में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में कई जरूरतमंद लोगों को इसका फायदा नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने अपील की पहले इमरजेंसी वाले लोगों को कार्ड बनवाने के लिए हेल्प करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर किसी को अस्पताल में इलाज शुरू करवाना है तो अपनी सुविधा के हिसाब से इलाज शुरू करवा सकता है। कार्ड बनने के बाद वे अपनी एंट्री करा सकते हैं। कोई भी अस्पताल ऐसे मरीजों का इलाज करने से इनकार नहीं कर सकता। योजना से 99 सरकारी व 66 प्राइवेट अस्पतालों में 1350 गंभीर बीमारियों का इलाज मुफ्त होना है।

-------------

योजना का लाभ लेने के लिए गोल्डन कार्ड बनने से पहले इलाज शुरू करवा सकते हैं। कार्ड की प्रक्रिया पूरी होने में 3 दिन का समय लग रहा है। पहले जरूरतमंद लोगों को कार्ड बनाने दें।

डा। एसके गुप्ता, सीएमओ, देहरादून

योजना के नाम से फर्जीवाड़ा

आयुष्मान भारत योजना के नाम से सोशल मीडिया में भी फर्जीवाड़ा शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के नाम से फर्जी वेबसाइट के द्वारा निशुल्क बीमा योजना देने वायदा किये जाने के संबंध में सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल किया जा रहा है। इसको लेकर दून पुलिस भी अलर्ट हो गई है। केन्द्र और राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना की सोशल मीडिया में गलत सूचना देने और लोगों को बरगलाने वाले लोगों पर पुलिस ने सख्ताई बरतनी शुरु कर दी है। इसके लिए दून पुलिस द्वारा फर्जी वेबसाइट से सावधान रहने की चेतावनी जारी की है। पुलिस ने इस प्रकार के किसी भी लिंक को क्लिक न करने व इस सम्बन्ध में आवश्यक जानकारी कर ही आवेदन करने की सलाह दी है। दून पुलिस द्वारा ऐसी शिकायतों को नजदीकी पुलिस स्टेशन ,दून पुलिस के फेसबुक पेज, ट्विटर एकाउंट या व्हाट्सएप नंबर 9997233033 पर देने की अपील की है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.