बिहार में प्रेरणा राज ने दसवीं में किया टाॅप जानें टाॅपर्स के नाम आैर कब से भरे जाएंगे स्क्रूटनी के फार्म्

2018-06-27T13:29:30Z

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की मैट्रिक 2018 की परीक्षा में एक बार फिर बेटियों ने अपना परचम लहराया है।

यहां जानें टाॅपर्स के बारे में
patna@inext.co.in
Patna: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की मैट्रिक 2018 की परीक्षा में एक बार फिर बेटियों ने अपना परचम लहराया है। टॉप थ्री में बेटियों का ही दबदबा रहा। सिमुलतला स्कूल की प्रेरणा राज 91.4 फीसदी नंबर प्राप्त कर राज्य की टॉपर बनीं है। प्रेरणा को 500 अंक में से 457 अंक मिले हैं। वहीं, दूसरे स्थान पर सिमुलतला स्कूल की प्रज्ञा और शिखा कुमारी रहीं।

इस बार ज्यादा स्टूडेंट्स सफल हुए

तीसरे स्थान पर सिमुलतला स्कूल की अनुप्रिया कुमारी जबकि चौथे स्थान पर भोजपुर के प्रियांशु राज रहे। पटना के सौरभ कुमार को आठवां स्थान मिला है। मंगलवार को रिजल्ट जारी करते हुए बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि पिछले साल की अपेक्षा इस बार ज्यादा स्टूडेंट्स ने सफलता प्राप्त की है। इस वर्ष कुल 68.89 फीसदी स्टूडेंट्स सफल हुए हैं। जबकि वर्ष 2017 में 50.12 फीसदी छात्र ही पास हुए थे।
देर से आया रिजल्ट
मैट्रिक की परीक्षा 21 फरवरी से 29 फरवरी के बीच आयोजित हुई जबकि इंटर की परीक्षा इसके बाद आयोजित हुई और उसका रिजल्ट भी पहले आया। गोपालगंज में कॉपियों के गायब होने से 20 जून के बजाय 26 जून रिजल्ट जारी किया गया। बोर्ड ने टॉप 25 स्टूडेंट्स की कॉपियों की दोबारा जांच कराई और फिजिकल वेरिफिकेशन के लिए उन्हें बुलाया।
राज्यपाल ने दी बधाई
राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने छात्रों की सफलता पर उन्हें शुभकामनाएं दी है। राज्यपाल ने कहा कि बिहार और बिहार के बाहर भी वह लगातार शिक्षा क्षेत्र में छात्राओं की उपलŽिधयों की चर्चा करते हैं। छात्रों को भी इससे प्रेरणा लेकर बेहतर करना चाहिए।
स्क्रूटनी और कंपार्टमेंटल के लिए आवेदन
स्टूडेंट्स स्क्रूटनी और कंपार्टमेंटल परीक्षा के लिए गुरुवार से ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि वार्षिक माध्यमिक परीक्षा 2018 के वैसे परीक्षार्थी जो एक अथवा दो विषयों में फेल हो गए हैं, वे कंपार्टमेंटल परीक्षा के लिए समिति की वेबसाइट  पर 28 जून से 05 जुलाई तक ऑनलाइन फार्म भर सकते हैं। वैसे परीक्षार्थी जिन्हें ऐसा लगता है कि उन्हें उम्मीद से कम अंक मिले हैं, वे स्क्रूटनी के लिए 28 जून से पांच जुलाई तक ऑनलाइन आवेदन बोर्ड की वेबसाइट पर कर सकते हैं।

रैंक फस्र्ट

457/500
मैट्रिक परीक्षा की स्टेट टॉपर प्रेरणा भागलपुर की हैं। वह डॉक्टर बनना चाहती हैं और पटना में मेडिकल की तैयारी कर रही हैं।

रैंक सेकेंड

454/500
मोतिहारी की प्रज्ञा के पिता प्रमोद कुमार स्वास्थ्य विभाग में सुपरवाइजर हैं। वह कोटा में मेडिकल की तैयारी कर रही हैं।

रैंक सेकेंड

454/500
नवादा निवासी शिखा आईएएस अफसर बनना चाहती हैं। उनके पिता मिडिल स्कूल में शिक्षक हैं। मैथ उनका पसंदीदा विषय हैं।
रैंक थर्ड
452/500
अन्नुप्रिया  कुमारी बेगूसराय की रहने वाली हैं। उनके पिता धर्मेंद्र ने बताया कि अन्नुप्रिया पर नाज है। वह आगे मेरा नाम रोशन करेगी।

एग्जााम में शामिल स्टूडेंट्स

17,58,797

लंबित परीक्षा फल

7815

कुल फेल

5,38, 825

टीजीटी 2011 लिखित परीक्षा के परिणाम जारी

डीयू में एडमिशन से हाथ धो बैठे आ‌र्ट्स स्टूडेंट्स


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.